साहिबाबाद, जागरण संवाददाता। चीन से कोरोना वायरस का संक्रमण कई देशों समेत अब भारत में भी पहुंच चुका है। वहीं, गाजियाबाद जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस को हराने के लिए अर्थला स्थित हज हाउस में 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर बनाने का निर्णय लिया है। इस सेंटर में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों को रखा जाएगा। बृहस्पतिवार को जिला प्रशासन और अल्पसंख्यक बोर्ड के अधिकारियों ने आइसोलेशन सेंटर बनाने के लिए हज हाउस का निरीक्षण किया। तीन से चार दिनों में आइसोलेशन सेंटर बना दिया जाएगा।

अन्‍य लोग रहेंगे यहां से दूर

अर्थला में करोड़ों रुपये की लागत से बनाए गए हज हाउस में हज यात्रियों के ठहरने के लिए कई बड़े कमरे बनाए गए हैं, जिसमें लोगों के रहने के लिए सभी मूलभूत सुविधाएं हैं। हज हाउस के इन कमरों में आइसोलेशन सेंटर बनाया जाएगा। जिसमें कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों को रखा जाएगा, जिससे वह अन्य लोगों से दूर रहें और यह वायरस किसी को संक्रमित न करें।

500 बेड का होगा आइसोलेशन सेंटर

अल्पसंख्यक कल्याण बोर्ड की डिप्टी डायरेक्टर डॉ. अमृता सिंह का कहना है कि हज हाउस में 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर बनाया जाएगा। यहां जिला अस्पताल के डॉक्टर तैनात रहेंगे। बृहस्पतिवार को एडीएम सिटी शैलेंद्र कुमार सिंह, जल निगम व अन्य विभागों के अधिकारियों ने हज हाउस में आइसोलेशन सेंटर बनाने के लिए निरीक्षण करने पहुंचे। तीन से चार दिन में आइसोलेशन सेंटर बना दिया जाएगा।

टोटी और मोटर चोरी

हज हाउस में बनाए गए कमरों में पानी की आपूर्ति के लिए मोटर और टोटियां लगाई गईं थी, जो चोरी हो चुकी हैं। अधिकारियों की मानें तो वर्ष 2018 में जब हज हाउस सील किया गया था, तभी यह चोरी हुई थी। जल्द ही मोटर और टोटियां लगा दी जाएंगी, जिससे मरीजों को सुविधा मिल सके।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस