जासं, वसुंधरा : सेक्टर-10 बी में एक महिला को बंदर ने काट लिया। लोगों ने नगर निगम के खिलाफ हंगामा किया। स्थानीय लोगों ने नगर निगम में शिकायत कर बंदर पकड़ने की मांग की है। आरडब्ल्यूए अध्यक्ष सुंदर स्वरूप सिघल ने बताया कि उनके घर पर रिश्तेदार महिला निशा शादी का निमंत्रण पत्र देने के लिए आई थी। इस दौरान निशा को बंदर ने काट लिया। शिकायत के बाद भी नगर निगम ने बंदरों को पकड़ने का काम शुरू नहीं किया। कुछ दिन पहले उन्होंने बंदर भगाने के लिए एक व्यक्ति को रखा था। वह व्यक्ति भी बंदरों का सामना नहीं टिक सका और बंदरों के डर से भाग गया। अब वह जल्द ही बंदरों की समस्या खत्म कराने के लिए धरने पर बैठेंगे।

-----

बंदर भगाने के लिए लंगूर का लिया सहारा

वसुंधरा की कई सोसायटी बंदरों के अधिक आतंक है। बंदर घर के अंदर घुसकर काट लेते हैं। गमले गिरा देते हैं। इससे हादसा हो सकता है। कपड़े, चश्मा व अन्य कीमती सामान ले जाते हैं। कई लोगों ने बंदरों को भगाने के लिए लंगूर का फोटो लगा रखा और लंगूर की आवाज को रिकार्ड करके रखा था। यह तरीका भी बंदरों को भगाने में सफल नहीं हो सका।

------

दो विभागों में फंसा पेच

बंदर पकड़ने के लिए वन विभाग और नगर निगम हमेशा आमने-सामने रहते हैं। वन विभाग का दावा है कि बंदरों को पकड़ने का काम नगर निगम का है। वन विभाग केवल बंदर पकड़ने की अनुमति देता है। वहीं नगर निगम का दावा है कि बंदरों को पकड़ने का काम वन विभाग का है। वह वन विभाग को बंदर पकड़ने के लिए फंड मुहैया करा सकते हैं।

------

नगर आयुक्त ने बंदर पकड़ने के लिए वन विभाग को पत्र लिखा है, लेकिन वन विभाग ने संसाधन न होने की बात कही है। नगर निगम संसाधन खरीदने के लिए फंड मुहैया करा देगा।

- डा. अनुज कुमार, पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी

Edited By: Jagran