अवनीश मिश्र, साहिबाबाद : देवजीत और पूजा ने साल-2008 में प्रेम विवाह किया था। उसने रविवार को वेलेंटाइन डे के मौके पर अपने प्यार का कत्ल कर दिया। रात भर शव के साथ कमरे में रहा। इस घटना से लोगों की रूह कांप गई है।

पुलिस ने पूजा और देवजीत के स्वजन से बातचीत की है। अन्य माध्यम से भी साक्ष्य जुटाए हैं। पुलिस के अनुसार देवजीत और पूजा में प्रेम था। दोनों ने साल-2008 में प्रेम विवाह किया था। उसके बाद से यहां वैशाली में फ्लैट खरीद कर रहते थे। फ्लैट लोन पर खरीदा था। करीब दो साल पहले लोन न चुका पाने पर बैंक ने उसे सील कर दिया था। उसके ससुराल वालों ने रुपये जमाकर फ्लैट की सील खुलवाई थी। ससुराल वालों ने पुलिस से कहा कि अगर उसे पैसे या अन्य किसी चीज की जरूरत या कोई समस्या थी, तो उसे साझा करता, वह लोग समस्या को दूर कराते।

---------

व्हाइट बोर्ड पर लिखा सुसाइड नोट : पूजा आनलाइन कक्षा के दौरान विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए व्हाइट बोर्ड का प्रयोग करती थीं। देवजीत ने उस पर ही सुसाइड नोट लिखा है। उसने लिखा है कि 'बताने के लिए कुछ नहीं है। मैं बिना किसी दबाव के यह कर रहा हूं। सिर्फ मैं ही इसके लिए जिम्मेदार हूं। इसके लिए सिर्फ मुझे ही दोष दिया जाए। मेरी पत्नी ने मुझे कई बार रोकने की कोशिश की, मगर मैं गलतियां करता गया। मैंने सभी को अंधेरे में रखा। किसी को नहीं पता था। यह मेरी मूर्खता ही है। मैं 15 दिन पहले तक लगातार गलतियों पर गलतियां करता रहा और इसका अहसास नहीं हुआ। मेरे बच्चे का ख्याल रखना'। सुसाइड नोट में ऊपर 14 फरवरी पूजा रात 11:35 बजे और 15 फरवरी देव सुबह पांच बजे लिखा है। पुलिस संभावना व्यक्त कर रही है कि उसने लिखा है कि रात 11:35 बजे पूजा की हत्या की है। सुबह पांच बजे उसने आत्महत्या का प्रयास किया है। पुलिस ने सुसाइड नोट अपने कब्जे में ले लिया है। जेब में हाथ डालकर बाहर निकला : मौके पर कई सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। उनकी फुटेज में दिख रहा है कि रविवार रात 9:54 बजे देवजीत और पूजा फ्लैट में गए हैं। सोमवार सुबह 9:10 बजे देवजीत बायां हाथ पेंट की जेब में डालकर फ्लैट से बाहर निकला। धीरे-धीरे चलते हुए बिल्डिंग से बाहर गया और खाली प्लाट की ओर मुड़ गया।

--------

सुसाइड और फुटेज में समय का अंतर : पुलिस की जांच के अनुसार सुसाइड नोट और सीसीटीवी फुटेज के समय में काफी अंतर आ रहा है। सुसाइड नोट के मुताबिक माना जाए, तो देवजीत ने सुबह पांच बजे आत्महत्या का प्रयास किया, लेकिन फुटेज में वह सुबह 9:10 बजे फ्लैट से निकलता दिख रहा है। ऐसे में पुलिस मान रही है कि कलाई की नस कटी होने के चार घंटे तक कोई बैठा नहीं रह सकता है। उसने सुबह पांच बजे के बजाय नौ बजे के आसपास नस काटी है। पूजा की हत्या के बाद वह रात भर शव के साथ ही फ्लैट में रहा है।

Edited By: Jagran