जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: बृहस्पतिवार को बुखार से पीड़ित एक छह साल की बच्ची की मौत हो गई। लालकुआं निवासी सतेंद्र सिंह 11 बजे जिला एमएमजी अस्पताल की इमरजेंसी में बुखार में तपती हुई बेटी रिया को लेकर पहुंचे। चिकित्सकों ने देखा तो तो बच्ची बेहोश थी। बच्ची की जांच की गई और इलाज शुरू करने से पहले ही बच्ची ने दम तोड़ दिया। सीएमएस डा. अनुराग भार्गव का कहना है कि बच्ची को बुखार था लेकिन खून की कमी और पेट के संक्रमण के चलते संभवत: उसकी मृत्यु हुई है। स्वजन बिना पोस्टमार्टम कराए बच्ची का शव ले गए। डेंगू वार्ड में भर्ती पांच बच्चों की हालत खराब है। दो-दो बार प्लेटलेट्स चढ़ाए जाने पर भी स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है।

------- नौ बच्चों को हुआ डेंगू, सक्रिय केस 106 बृहस्पतिवार को नौ बच्चों समेत डेंगू के 22 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही कुल संख्या 931 हो गई है। इनमें बाहरी जिलों के 26 मरीज शामिल हैं। डेंगू से चार लोगों की मौत हो चुकी है। अक्टूबर में डेंगू के 593 मरीज मिल चुके हैं। नए मरीजों में 10 को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। डेंगू के 106 सक्रिय केसों में 54 सरकारी और 52 मरीज निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। मलेरिया विभाग की 17 टीमों ने सर्वे के दौरान 37 स्थानों पर डेंगू का लार्वा मिलने पर उसे नष्ट कराया है। -------- ओपीडी में बुखार के 559 मरीज पहुंचे

जिला एमएमजी अस्पताल की ओपीडी में बृहस्पतिवार को 2,253 मरीजों में 559 बुखार के पहुंचे। इनमें 179 बच्चे शामिल हैं। 28 बच्चों को भर्ती कराया गया है। 15 सितंबर से लेकर अब तक ओपीडी में बुखार के 21,087 मरीज आ चुके हैं। ----------------

डेंगू प्रभावित संवेदनशील क्षेत्रों की सूची बनाते हुए फागिग और एंटी लार्वा का छिड़काव करने की योजना बनाते हुए पचास टीमों को क्षेत्रवार तैनात कर दिया गया है। आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों के साथ बैठक करके उनका सहयोग मांगा गया है।

- ज्ञानेंद्र मिश्रा, जिला मलेरिया अधिकारी

Edited By: Jagran