जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: कविनगर थानाक्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति की कार लेकर उनका दोस्त फरार हो गया। पीड़ित के मुताबिक उसने परिवार संग मसूरी घूमने जाने के लिए 15 दिन को कार मांगी थी। मगर बाद में कार लेकर फरार हो गया। उसके मकान पर भी ताला लगा हुआ है। पुलिस ने सुनवाई नहीं की तो पीड़ित ने कोर्ट में गुहार लगाई, जिसके आदेश के बाद कविनगर थाने में अमानत में खयानत और धोखाधड़ी की धाराओं में दोस्त व उसके भाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।

शास्त्रीनगर के एच ब्लॉक में रहने वाले रविद्र कुमार एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में सुपरवाइजर हैं। रविद्र के मुताबिक कुछ समय पहले उन्होंने एर्टिगा कार फाइनेंस कराई थी। चिरंजीव विहार में रहने वाले उनका दोस्त सीताराम व उसका भाई राधेश्याम सुनार हैं। दोनो को वह बीते नौ साल से जानते हैं। सीताराम ने कहा कि वह परिवार के साथ मसूरी घूमने जा रहा है। कुछ दिन के लिए उसने रविद्र की कार मांगी। छह जनवरी 2019 को यह कहकर कार ले गए कि 20 जनवरी को वह कार वापस कर देंगे। 20 जनवरी को नहीं लौटे तो रविद्र ने फोन मिलाया, लेकिन नंबर बंद आ रहा था। वह दोनों के घर गए तो ताला लगा मिला। पड़ोसियों ने बताया कि दो हफ्ते पहले ही परिवार समेत सामान लेकर दोनों यहां से चले गए हैं। कुछ दिन बाद सीताराम का नंबर मिला तो कार लौटाने के नाम पर दोनों उन्हें धमकी देने लगे। एसएचओ कविनगर राजकुमार शर्मा का कहना है कि मामले में सीताराम और राधेश्याम के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। नंबर के आधार पर उनकी लोकेशन ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस