जासं, गाजियाबाद : तीन साल में रकम दो गुनी करने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। कोर्ट के आदेश पर विजयनगर थाना पुलिस ने एजेंट व ट्रस्ट के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पीड़िता के मुताबिक उनसे हर माह एक निश्चित रकम ली जाती थी।

मिर्जापुर निवासी सईदा बेगम ने बताया कि साल 2014 में उन्हें राजकुमार उर्फ राजेश नाम का व्यक्ति मिला था। उसने कोलकाता के मंगोलिनी में रजिस्टर्ड विश्वामित्र इंडिया परिवार सोशल एंड एजूकेशनल ट्रस्ट के बारे में बताया। कहा कि हर माह निश्चित राशि तीन साल तक देने पर संस्था रकम को दोगुना कर लौटाती है। साथ ही इस रकम के आधार पर सस्ता लोन भी लिया जा सकता है। पीड़िता ने अप्रैल-2014 से 2100 रुपये प्रतिमाह देने शुरू कर दिए। गोविदपुरम स्थित संस्था की स्थानीय शाखा की ओर से उन्हें पासबुक दी गई और हर माह जमा रकम की बैंक की तरह एंट्री भी की जाती थी। अप्रैल-2017 तक उन्होंने 75,600 रुपये जमा कराए। मई-2017 में उन्होंने पैसे मांगे तो राजेश ने कंपनी के भागने की बात कही। हालांकि उसने पैसे लौटाने का आश्वासन भी दिया। दो साल तक रुपये नहीं मिलने पर उन्होंने थाना पुलिस और एसएसपी से गुहार लगाई। सुनवाई नहीं होने पर पीड़िता ने कोर्ट की शरण ली। एसएचओ विजयनगर श्यामवीर सिंह ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस