जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : मेरठ रोड औद्योगिक क्षेत्र में शुक्रवार सुबह एक पेंट्स फैक्ट्री में संदिग्ध हालात में आग लग गई। आग कंपनी खुलने के एक घंटे बाद उस वक्त लगी, जब एक दर्जन से अधिक कर्मचारी फैक्ट्री के अंदर थे। सूचना पर पहुंची दमकल विभाग की टीम ने साढ़े तीन घंटे की मशक्कत के बाद काबू पर काबू पाया। आग बुझाने में कोतवाली समेत चार फायर स्टेशन के स्टाफ के साथ मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील कुमार खुद जुटे। उन्होंने बताया कि आग से कोई हताहत नहीं हुआ है। सूचना मिलने के 10 मिनट से भी कम समय में टीम पहुंच गई। इस कारण बड़ा हादसा होने से बच गया।

--

15 लोग मौजूद थे

एफएसओ सुशील कुमार ने बताया कि ब्लूदीप पेंट्स एंड केमिकल्स नाम की इस फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में थिनर व विभिन्न केमिकल से पेंट्स बनाने का काम किया जाता है। शुक्रवार सुबह आठ बजे फैक्ट्री का काम शुरू हुआ था। फैक्ट्री में बेसमेंट, भूतल और प्रथम तल हैं। भूतल पर कर्मचारी काम कर रहे थे। नौ बजे के बाद किसी कारण आग लग गई। आग इतनी जोरदार तरीके से लगी थी कि गार्ड समेत 15 कर्मचारी उसे बुझाने की हिम्मत नहीं कर पाए और चिल्लाते हुए बाहर की ओर दौड़े। 09:16 बजे दमकल विभाग व पुलिस को सूचना दी। फैक्ट्री संचालक कुणाल बत्रा ने बताया कि आग के कारण करोड़ों रुपये के माल और मशीनरी नष्ट हो गई है। एयरफोर्स से पहुंचे फोम टेंडर

फैक्ट्री में थिनर व केमिकल के कई ड्रम हमेशा रखे रहते हैं। आग के कारण ये ड्रम धमाके के साथ फटे, जिनसे निकले आग के गोलों ने पूरी फैक्ट्री को अपनी चपेट में ले लिया। धमाकों की आवाज से आसपास की फैक्ट्री के मजदूर भी बाहर आ गए। चारों फायर स्टेशन की 12 गाड़ियां और हिडन एयरफोर्स से से एक एयरक्रैश (फोम) टेंडर भी मौके पर पहुंचा। एक गाड़ी को चार से अधिक बार पानी लेकर आना पड़ा। आग बुझाने में 50 से अधिक गाड़ी पानी खर्च हुआ। बड़ी संख्या में आसपास की फैक्ट्री से भी अग्निशमन उपकरण भी मंगाए गए। पौने एक बजे आग बुझा दी गई थी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस