जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : नगर निगम ने निगम क्षेत्र के साईं उपवन के पीछे नेशनल केपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपेशन (एनसीआरटीसी) को रैपिड रेल के लिए चार हजार वर्ग मीटर जमीन पर पहले सहमति होने के बाद अब काम करने की अनुमति दे दी है। निगम के संपत्ति विभाग ने अनुमति देने के बाद शासन को भी इस मामले को लेकर पत्र भेजा है। वहीं, निगम ने आरआरटीएस को दी जाने वाली 83 हजार वर्ग मीटर अस्थाई जमीन पर किराया वसूलने का आकलन भी शुरू कर दिया है, जिसके बाद निगम अधिकारी इस जमीन का किराया लेने के लिए शासन से मांग करेंगे।

नगर निगम से मिली जानकारी के मुताबिक एनसीआरटीसी ने पिछले दिनों नगर निगम से साईं उपवन के पीछे विद्युत सब-स्टेशन बनाने के लिए चार हजार वर्ग मीटर जमीन मांगी थी। इसके बाद निगम के संपत्ति विभाग ने एनसीआरटीसी यह प्रस्ताव नगर निगम कार्यकारिणी समिति और बोर्ड में रखा। बोर्ड बैठक में कई पार्षदों ने इसका विरोध किया था। विरोध के बीच ही यह प्रस्ताव की सूचना नगर निगम ने शासन को भेज दिया था। निगम ने रैपिड रेल प्रोजेक्ट में बाधा न इसके चलते एनसीआरटीसी को काम करने के लिए अनुमति दे दी है। नगर निगम के संपत्ति अधिकारी व अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय ने बताया कि बोर्ड में पास हुए प्रस्ताव की जानकारी शासन को भेज दी गई है। अब अनुमति देने के बाद भी इसका प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया है। वहीं, अस्थायी तौर पर भी जमीन मांगी है। इसके किराए का आकलन कराया जा रहा है। साथ ही सर्किल रेट के हिसाब से किराए की मांग भी की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस