जासं, गाजियाबाद : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को शांति पूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन ने इंटरनेट मीडिया पर भ्रामक पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का खाका खींच दिया है। इंटरनेट मीडिया अकाउंटों पर नजर रखी जा रही है। यदि कोई व्यक्ति भ्रामक, आपत्तिजनक व धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला मैसेज, वीडियो व फोटो आदि को पोस्ट करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन ने इंटरनेट मीडिया सेल का गठन किया गया है।

डीएम अजय शंकर पांडेय ने बताया कि इस बार चुनाव में इंटरनेट मीडिया का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है। लोग फेसबुक, वाट्सएप, ट्विटर आदि पर प्रचार कर रहे हैं। ऐसे में प्रत्याशी व उनके समर्थक विकास कार्यो को लेकर भी इंटरनेट मीडिया पर दूसरे पर सवाल उठा रहे हैं। वहीं कुछ लोग इंटरनेट मीडिया पर कानून व्यवस्था में खलल डाल सकते हैं। जिला प्रशासन ने इंटरनेट मीडिया पर निगरानी रखने के लिए जिला सूचना कार्यालय में मीडिया सेल बनाया है। यहां पर 24 घंटे लोगों के अकाउंट पर नजर रखी जाएगी। पूर्व में इंटरनेट मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर विवादों में रहे लोगों को पुलिस ने पहले ही चिह्नित किया हुआ है। उनके अकाउंट पर विशेष नजर रखी जा रही है।

----

मैसेज को आगे बढ़ाने से पहले करें पुष्टि

यदि इंटरनेट मीडिया पर कोई मैसेज चल रहा है तो उसे आगे बढ़ाने से पहले उसकी सत्यता की पुष्टि जरूर कर लें। झूठे मैसेज को पोस्ट न करें। चुनाव में प्रशासन को पुराने व दूसरे जगह के आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने का अंदेशा है। इंटरनेट पर वायरल हो रहे विभिन्न वीडियो पर नजर रखी जा रही है।

Edited By: Jagran