संवाद सहयोगी, मोदीनगर : वर्ष 1965 के भारत-पाक युद्ध में शहीद हुए मेजर आशा राम त्यागी की 76वीं जयंती पर उन्हें याद किया गया। बरसात के चलते प्रति वर्ष की भांति होने वाला समारोह सादगी में तब्दील हो गया। रेलवे रोड स्थित उनकी प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। वहीं, सेठ जी की धर्मशाला में हवन यज्ञ का आयोजन किया गया।

शहीद मेजर आशा राम त्यागी स्मृति सेवा ट्रस्ट एवं नगर पालिका मोदीनगर द्वारा शहीद आशा राम त्यागी की जयंती पर बड़े स्तर पर कार्यक्रम के आयोजन की तैयारी की गई थी। आयोजन में केंद्र सरकार के राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, प्रदेश के श्रम मंत्री शाहिद मंजूर अतिथि थे और लोक गायक कलाकारों की ओर से रागिनी का आयोजन रखा गया था। लेकिन सुबह से ही दोपहर बाद तक रिमझिम बरसात के चलते अतिथि नहीं आए। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि भाजपा नेता सत्यवीर त्यागी ने कहा कि शहीदों को याद करने से देश प्रेम की भावना जागृत होती है। साथ ही उनसे प्रेरणा भी मिलती है। पालिका की चेयरपर्सन सरोज शर्मा ने कहा कि देश के लिए शहीद हुए लोग ऐसा आजाद भारत देखना चाहते थे, जो भ्रष्टाचार मुक्त हो। पूर्व पालिका चेयरमैन रामआसरे शर्मा ने युवाओं में देश प्रेम की भावना जागृत करने पर भी बल दिया।

कार्यक्रम में शहीद मेजर आशा राम त्यागी के बड़े भाई परशुराम त्यागी, श्यामसुंदर, राज सिंह व दया स्वरूप त्यागी ने भी उनके संस्मरण सुनाए और हवन यज्ञ के आयोजन में शामिल होकर आहुति दी। इस मौके पर ट्रस्ट से जुड़े लोगों में शिवराज सिंह त्यागी, मनोज त्यागी, धनेश त्यागी, रामेश्वर दयाल, जसवीर त्यागी, डा. नरेंद्र के अलावा भाजपा महिला मोर्चे की जिलाध्यक्ष डा. मंजू सिवाच, सुरेंद्र त्यागी, ललित त्यागी समेत पालिका के दर्जनों सभासद व बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

- समारोह में नहीं पहुंचा कोई अधिकारी :

प्रतिवर्ष मेजर आशा राम त्यागी की जयंती पर कार्यक्रम के दौरान तहसील से जुड़े प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी उपस्थित होकर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करत थे। लेकिन इस बार किसी भी अधिकारी के न पहुंचने को लेकर चर्चा का विषय बना रहा।