संवाद सहयोगी, जसराना: पाढ़म क्षेत्र में ईसाई समाज के पवित्र कुंड में पांच वर्षीय बालिका की मौत को लेकर सनसनी फैल गई। बालिका अपने परिवार वालों के साथ प्रार्थना सभा में आई थी। घटना की खबर लगने पर पहुंचे ¨हदू जागरण मंच एवं आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने हंगामा करते हुए जबरिया धर्म परिवर्तन के आरोप लगाए। मौके पर पहुंची पुलिस ने संस्था सदस्यों से पूछताछ की।

थाना जसराना क्षेत्र के कस्बा पाढ़म स्थित ईसागढ़ में वर्षो पुराना ईसाई धर्म स्थल है। यहां एक कुंड है, जिसकी गहराई ज्यादा नहीं है। गुरुवार शाम हाथरस के थाना सादाबाद क्षेत्र गांव रधोई निवासी सोनवीर अपनी पांच वर्षीय बेटी सौम्या और पत्नी के साथ आए थे। बताया गया है कि सोनवीर और उसकी पत्नी प्रार्थना में थे। जब बाहर निकले तो कुंड में सौम्या अचेत पड़ी थी। आनन-फानन में उसे पाढ़म के निजी हॉस्पिटल ले गए, जहां मृत घोषित कर दिया गया। बताया गया कि पुलिस को सूचना दिए बगैर परिजन शव को ले गए और गांव में दफना दिया।

शुक्रवार दोपहर लगभग 12 बजे घटना की जानकारी मिलने पर ¨हदू जागरण मंच के विशेष यादव, जसवीर ¨सह यादव, आरएसएस के सेवा प्रमुख गोपाल शुक्ला, तहसील प्रचारक विमल पहुंचे। घटनास्थल का निरीक्षण कर थाने पहुंचकर बालिका की हत्या की आशंका जताई। मामले की गंभीरता देख सीओ जसराना प्रेमप्रकाश यादव, इंस्पेक्टर रनवीर ¨सह पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे और धर्मस्थल पर मौजूद लोगों से जानकारी ली। फिलहाल पीड़ित परिवार से संपर्क नहीं हो सका है। ईसागढ़ के संचालक विजय प्रधान ने बताया कि बच्ची की मौत हादसा थी। इसलिए परिवार वालों की तरफ से कोई शिकायत नहीं की गई। घटना प्रथम²ष्टया हादसा है। कुंड में लगभग चार फीट पानी था। पीड़ित परिवार ने पुलिस को सूचना भी नहीं दी। ¨हदूवादी संगठन प्रतिनिधियों ने जबरिया धर्म परिवर्तन के आरोप लगाए हैं। यदि कोई लिखित शिकायत आती है तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

प्रेमप्रकाश, सीओ जसराना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप