फीरोजाबाद, जासं, हाईवे से सटे तीस फुटा रोड पर चंद कदम की दूरी तय करने में लोगों को पग-पग पर दुश्वारियां झेलनी पड़ रही हैं। इस मार्ग पर हर रोज हजारों लोगों का आवागमन होता है। गड्ढा युक्त सड़क से गुजरते समय आएदिन चूड़ी से भरे ठेल व ई-रिक्शा पलट जाते हैं। कई बार लोग घायल भी हो चुके हैं। पार्षद की शिकायत पर नगर निगम द्वारा सड़क निर्माण के लिए क्षेत्र में पैमाइश कराई गई, एस्टीमेट भी बना, लेकिन सड़क निर्माण की अब तक सुध नहीं ली।

जागरण आपके द्वार अभियान के तहत टीम मंगलवार को वार्ड 66 तीस फुटा रोड पर पहुंची। जलनिगम द्वारा पाइप लाइन डालने को मुख्य सड़क के साथ लिंक गलियों को खोदा गया। क्षेत्र में गंगाजल की आपूर्ति शुरू की गई, लेकिन सड़क खुदने से लोगों की मुश्किल बढ़ गई। तीस फुटा रोड से बजरंग वाटिका तक राह चलते लोगों को तमाम दुश्वारियां झेलनी पड़ रही हैं। मुख्य मार्ग पर कहीं गड्ढे हो रहे हैं तो कहीं सुबह-शाम जलभराव होने से लोग परेशान हैं। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि गलियों में कुछ लोगों के खुले हुए कनेक्शन हैं, जिससे घंटों पानी नालियों में बहता रहता है। अशरफगंज के लोगों का कहना था कि सफाई कर्मचारी न आने से पूरे क्षेत्र में गंदगी रहती है। कई दिनों तक कूड़ा न उठाने से लोग संक्रामक रोग का शिकार हो रहे हैं। दोपहर तक सड़क से कूड़ा नहीं उठता। कोठी नवीगंज के लोगों ने गलियों में पेजयल की समस्या बताई। उनका कहना था कि रसूलपुर टंकी से क्षेत्र में पानी की आपूर्ति होती है। अंदर गलियों तक नहीं आ रहा है, जिससे प्राइवेट सबमर्सिबल से पानी खरीद रहे हैं। वार्ड पर एक नजर..

आबादी: 15-20 हजार

मुहल्ले: तीस फुटा, अशरफ गंज, रहमत नगर, कोठी नवी गंज, सैयद गंज खेत

समस्या: वार्ड में साल भर से उखड़ी पड़ी गलियां, सफाई व्यवस्था ध्वस्त, कर्मचारियों का अभाव, एलइडी लाइट की कमी - मुहल्ले में जब कभी सफाई कर्मचारी आते हैं। कई दिन तक गलियों व नालियों की सफाई नहीं होती है, जिससे पूरे क्षेत्र में मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है। सफाई व्यवस्था की कई बार शिकायत कर चुके हैं।

- अफसरी - जलनिगम द्वारा पाइप लाइन डालने के लिए गलियां खोदी गईं। पाइप लाइन डालने के बाद साल भर से गलियां उखड़ी पड़ी हैं। नगर निगम व जलनिगम में कई बार शिकायत कर चुके हैं, लेकिन गलियां ठीक नहीं हो सकीं।

- रिहान - बजरंग वाटिका के निकट मुख्य मार्ग पर हर रोज काफी जलभराव होता है, जिससे सुबह स्कूल जाने वाले बच्चों के साथ-साथ क्षेत्र की महिलाओं, बुजुर्गों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

- उबैस - वार्ड में कई पोलों में अब तक एलइडी लाइट तक नहीं लगी हैं। लाइट लगाने के लिए नगर निगम में कई बार लिखित व मौखिक शिकायत कर चुके हैं। एलइडी लाइट न होने से शाम होते ही गलियों में अंधेरा छा जाता है। जाहिद

-जेड़ाझाल की पाइप लाइन डालने के बाद जलनिगम द्वारा सड़कों का निर्माण नहीं कराया गया है। तीस फुटा का मुख्य मार्ग, अशरफ गंज, कोठी नवीं में सड़क निर्माण के लिए मैं दो बार प्रस्ताव दे चुका हूं। नगर निगम द्वारा पैमाइश कराकर एस्टीमेट बना लिया है। टेंडर प्रक्रिया पूरी होने से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। विद्युत पोल पर एलइडी लगवाने के लिए भी लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

मो. शाहिद अंसारी, पार्षद

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस