जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: आत्महत्या की धमकी के बाद निगम अधिकारियों ने ठेकेदार की पत्नी को उसके बकाया में से साढ़े तीन लाख रुपये का भुगतान कर दिया है। उसके परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए यह भुगतान किया गया है। यह भुगतान पुराने बकाया में से नहीं निगम कार्यकाल के बकाया से किया गया है।

शहर के मुहल्ला कैलाश नगर निवासी राजबहादुर शर्मा ने नगर पालिका कार्यकाल में निर्माण विभाग में ठेकेदारी की थी, जिसका भुगतान नहीं हो सका। इसी तरह वर्ष 2014 में भी निगम कार्यकाल में उन्होंने काम किए, जिसका भी बकाया चल रहा था। कई बार कहे जाने के बाद भी भुगतान न होने के चलते ठेकेदार का मकान बिक गया। पूरा परिवार किराए के मकान में रहने लगा। किराया न देने के चलते मकान मालिक ने ठेकेदार के परिवार से मकान खाली करा लिया। इसके बाद यह परिवार इधर-उधर रहने को विवश है। राजबहादुर की तबियत खराब होने के कारण वह चलने फिरने में असमर्थ हैं। कई बार गुहार लगाने के बाद भी भुगतान न होने से परेशान ठेकेदार की पत्नी विमला देवी मंगलवार देर शाम नगर निगम कार्यालय पहुंची और भुगतान न किए जाने पर अपने बेटे के साथ आत्महत्या की धमकी दी। इसी के साथ निगम अधिकारियों के होश उड़ गए। अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार ने महिला से वार्ता की और उन्हें आश्वस्त किया कि गुरुवार को इस संबंध में मदद की जाएगी। इसी के तहत बुधवार को जानकारी की तो पता चला ठेकेदार का वर्ष 2014-15 का भुगतान अवशेष है। नगर आयुक्त जितेंद्र कुमार के निर्देश पर ठेकेदार की पत्नी को निगम कार्यकाल का भुगतान साढ़े तीन लाख रुपये का कर दिया गया। अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार ने बताया महिला को निगम कार्यकाल का भुगतान कर दिया गया है। पुराने भुगतान के लिए शासन को एक बार फिर से डिमांड भेजी जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस