संवाद सहयोगी, फीरोजाबाद: पंचायत चुनाव की तारीख तय नहीं होने के कारण यूपी बोर्ड 2021 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा असमंजस में है। अभी तक न तो परीक्षा केंद्रों का निर्धारण हो सका है और न प्रयोगात्मक परीक्षाएं शुरू हो सकी हैं।

कोरोना संक्रमण काल में मार्च 2020 में यूपी बोर्ड की परीक्षाओं पर कोई असर नहीं पड़ा। लाकडाउन लगने से पहले ही यूपी बोर्ड की परीक्षाएं संपन्न हो गई थीं। प्रधानाचार्यों ने 20 सितंबर तक परीक्षा केंद्र के लिए स्कूल के कमरे, सीट, पेयजल, विद्यालय स्थान जैसी आधारभूत सुविधाओं को अपलोड कर दिया था। अक्टूबर के पहले सप्ताह तक डीआइओएस ने स्कूलों द्वारा भेजी सूचनाओं का सत्यापन कराकर 31 अक्टूबर तक रिपोर्ट माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर अपलोड कर दी थी।

इसी सूचना के आधार पर 91 परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया था। 18 फरवरी से परीक्षाएं शुरू होकर छह मार्च को समाप्त हो गई थीं। इस बार जनवरी में भी बीस दिन गुजर गए, लेकिन अभी तक परीक्षा केंद्रों का निर्धारण नहीं हो सका है। मार्च में पंचायत चुनाव होने की संभावना है। अधिकारी चुनाव की तैयारियों में जुटे हैं। जिसके कारण यूपी बोर्ड की परीक्षाएं तो दूर अभी तक प्रयोगात्मक परीक्षाएं भी शुरू नहीं हो सकी हैं। डीआइओएस बालमुकुंद प्रसाद ने बताया कि अभी केंद्र निर्धारण की प्रक्रिया चल रही है। -अबकी बार ज्यादा परीक्षार्थी देंगे परीक्षा.. 42791: हाईस्कूल के परीक्षार्थियों ने मार्च में दी थी परीक्षा

37500: इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों ने मार्च में दी थी परीक्षा 44689: हाईस्कूल के परीक्षार्थी 2021 के लिए पंजीकृत 38103: इंटरमीडिएट के परीक्षार्थी ने 2021 के लिए पंजीकृत

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप