Move to Jagran APP

फिरोजाबाद में रेप पीड़िता ने पुलिस कस्टडी में खाया जहर; सिपाही ने कहा था, मैं दो महीने में जेल से बाहर आ जाऊंगा

Firozabad Crime News In Hindi यूपी पुलिस ने सिपाही ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म के दौरान सिपाही ने युवती की वीडियो भी बनाई थी। जिसके बाद वो उसे ब्लैकमेल कर रहा था। पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। विगत दिवस महिला काे मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया जा रहा था उसी दौरान उसने विषाक्त का सेवन कर लिया।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Wed, 10 Jul 2024 10:15 AM (IST)
Firozabad News: पुलिस कस्टडी में विषाक्त खाने वाली दुष्कर्म पीड़िता।

जागरण संवाददाता, फिरोजाबाद। औरैया निवासी दुष्कर्म पीड़ित युवती ने थाना मक्खनपुर लौटते समय पुलिस अभिरक्षा में किसी विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। उसने चार जुलाई को पुलिस लाइंस में तैनात सिपाही पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने, आपत्तिजनक वीडियो बनाने और धमकी देने के आरोप में प्राथमिकी लिखवाई थी। सिपाही को उसी दिन निलंबित कर दिया गया।

पीड़िता ने सिपाही पर जहर की पुड़िया देने और सीओ लाइन पर 10 लाख रुपये लेकर मामले को रफा-दफा करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है। आरोपित सिपाही को बिल्टीगढ़ के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

24 वर्षीय पीड़िता के अनुसार सिपाही पुष्पेंद्र कुमार निवासी राजनगर, हसनपुर सादाबाद हाथरस से उसकी मुलाकात मार्च 2021 में आगरा के रामबाग में हुई थी। इसके बाद दोनों के बीच प्रेम संबंध हो गए। वर्ष 2022 में शादी करने के लिए उसके परिवार ने सहमति दे दी थी। उसके स्वजन ने सिपाही के परिवार को 51 हजार रुपये शगुन के रूप में दिए थे। 2023 में शादी करने की बात तय हुई थी।

शादी का झांसा देकर बनाए थे संबंध

शादी का झांसा देकर आरोपित ने औरैया, आगरा, मथुरा और नोएडा के होटलों में उससे संबंध बनाए। औरैया के होटल में उसने आपत्तिजनक वीडियो भी बना लिए थे। बाद में वह शादी करने से मुकर गया। उसका कहना था कि यदि दहेज में 25 लाख दहेज मिलेंगे तो वह उससे शादी कर सकता है। बीते 30 मई को उसने शादी करने से साफ मना कर दिया।

ये भी पढ़ेंः Dacoity In UP: डकैतों ने इस जिले में बरपाया कहर, परिवार की दो बेटियों को बंधक बनाकर घर से लाखाें की लूट

मुकदमा दर्ज होने के बाद बुलाया था मेडिकल के लिए

एसएसपी कार्यालय में शिकायत के बाद सीओ लाइन प्रवीन कुमार तिवारी ने मक्खनपुर में मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने उसे चिकित्सीय परीक्षण और न्यायालय में बयान देने के लिए मंगलवार को बुलाया था। सुबह 11.30 बजे वह थाने पहुंची। इसके बाद उसे मेडिकल कालेज अस्पताल में भेजा गया, लेकिन उसने मेडिकल कराने से मना कर दिया। इसके बाद उसे वापस थाने लाया गया था।

ये भी पढ़ेंः Hathras Stampede Case: एसआईटी जांच के बाद कार्रवाई को कैसा मानते हैं हादसे में मरने वालों के स्वजन? कहा- बाबा पर...

इंस्पेक्टर शिव सिंह चौहान अनुसार रास्ते में उसने कुछ विषाक्त खा लिया। हालत बिगड़ने पर उसे ट्रॉमा सेंटर भेजा गया। युवती का आरोप है कि आरोपित सिपाही ने ही रास्ते में उसे विषाक्त पदार्थ दिया था।

एसएसपी सौरभ दीक्षित ने बताया कि आरोपित सिपाही को गिरफ्तार कर लिया है। उसे जेल भेजा जाएगा। सीओ लाइन पर आरोप निराधार हैं। 

तू विषाक्त खाकर मर जा, मैं दो महीने में जेल से बाहर आ जाऊंगा

पीड़िता ने बताया कि वह सिपाही से शादी करना चाहती है। इसलिए वह बयान देने से पहले फोन करके उसे बुलाया। आरोप है कि सिपाही पुष्पेंद्र ने ही उसे मक्खनपुर थाने के बाहर पुड़िया देते हुए कहा कि वह उसे खाकर मर जाए। वह दो महीने में जेल से बाहर आ जाएगा। युवती का आरोप है कि सीओ लाइन ने कहा था कि 10 लाख रुपये लेकर मामले को रफा-दफा कर दो। वह अपने सिपाही को 24 घंटे में जेल से निकाल लेंगे।

ट्रामा सेंटर में नहीं मिले वार्ड ब्वॉय

दोपहर में पुलिसकर्मी पीड़िता को लेकर ट्रामा सेंटर पहुंचे वहां कोई वार्ड ब्वाय नहीं था। स्ट्रेचर भी नहीं मिला तो दो पुलिसकर्मी उसे हाथपैर पकड़ कर अंदर ले गए। इस बारे में सीएमएस डा. नवीन जैन ने मामले की जानकारी से इंकार किया है।