जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: आस्था एवं व्रत का त्योहार पर्यूषण महापर्व शुक्रवार से शुरू हो रहा है। जैन मंदिरों में पंडाल सज गए हैं तो घरों में तैयारियां चल रही हैं। बाजार की सामग्री से कई भक्त परहेज करते हैं। मसाले ही नहीं, आटा भी घरों में ही पीसा जाता है। इसके लिए घरों में छोटी आटा चक्की मंगा ली गई हैं।

मंदिरों में सुबह से ही भक्तों का आवागमन शुरू होगा। हर रोज उत्तम धर्म पर प्रवचन होंगे। प्रमुख मंदिरों में बाहर से विद्वान आ रहे हैं। चंद्रप्रभ मंदिर में जयपुर के शीलचंद्र जैन शास्त्री भक्तों को धर्म का महत्व बताएंगे। मंदिरों में तत्वार्थ सूत्र की गूंज हर रोज गूंजेगी। कई लोग इन दिनों व्रत रखते हैं तो 80 फीसद लोग एक वक्त भोजन करते हैं। 24वें तीर्थंकर के नाम पर सजेंगे द्वार:

अनंत चतुर्दशी के पर्व पर जैन ¨दगबर युवा संघर्ष समिति द्वारा नगर में जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर के नाम पर स्वागत द्वार सजेंगे। ----इन मंदिरों में प्रमुख कार्यक्रम--

श्रीदिगंबर जैन चंद्रप्रभ मंदिर, कृष्णाजी पाड़ा, श्रीनसियाजी जैन मंदिर पीडी जैन इंटर कॉलेज, सेठ श्रीछदामीलाल जैन मंदिर, विभव नगर, छदामीलाल लाल जैन चैत्यालय बड़ी छपैटी, जैन नगर खेड़ा, नई बस्ती एवं कटरा स्थित जैन मंदिर, मुनि सुव्रतनाथ मंदिर सुहागनगर। 36 जैन मंदिर हैं फीरोजाबाद शहर क्षेत्र में।

10 दिन तक चलेगा पर्यूषण महापर्व।

08 जैन विद्वान बाहर से प्रवचन देने आएंगे जैन मंदिरों में।

19 सितंबर को धूप दशमी पर मंदिरों में होंगे धूप खेवन कार्यक्रम।

---------

--यह हैं दस धर्म--

उत्तम क्षमा, मार्दव, आर्जव, शौच, सत्य, संयम, तप, त्याग, आ¨कचन, ब्रह्मचर्य।

Posted By: Jagran