जागरण संवाददाता, फिरोजाबाद: पिछले दो दिनों में दो विधायकों के दल-बदल के बाद सियासी घमासान हो गया है। टिकट की कतार में लगे पार्टी के दिग्गजों में पाले खिचने लगे हैं, ऐसे में टिकट में फेरबदल की आशंकाएं भी गहरा गई है। सबसे ज्यादा घमासान शिकोहाबाद सीट पर है। एक तरफ सपा के दिग्गज और पुराने वफादार हैं तो दूसरी तरफ पार्टी में शामिल हुए नए चेहरे हैं। हालांकि अभी तक कांग्रेस चार और बसपा एक सीट पर प्रत्याशी घोषित कर पाई है।

सिरसागंज विस सीट पर भाजपा से आधा दर्जन से ज्यादा नेता टिकट की कतार में थे। इनमें पार्टी के पिछड़ा मोर्चा के पूर्व प्रदेश पदाधिकारी डा.रामकैलाश यादव से लेकर नपा चेयरमैन सोनी शिवहरे और संगठन के जिला पदाधिकारी और महिला नेत्री भी शामिल थीं। सिरसागंज के सपा से बर्खास्त चल रहे दो बार के विधायक हरिओम यादव के बुधवार को भाजपा का दामन थाम लेने के बाद टिकट के समीकरण बदल गए हैं। समर्थक उनकी टिकट फाइनल मान रहे हैं। हालांकि अधिकृत रूप से घोषणा होना बाकी है। वहीं सिरसागंज से सपा के सबसे बड़े दावेदार बताए जा रहे कारोबारी के नाम पर फिर से पार्टी विचार कर रही है।

गुरुवार को शिकोहाबाद के भाजपा विधायक डा.मुकेश वर्मा द्वारा सपा में शामिल होने के बाद टिकट की कतार में लगे सपा नेताओं में खलबली मच गई है। यहां से सपा से पूर्व विधायक रहे निषाद समाज के नेता ओमप्रकाश वर्मा, एमएलसी डा. दिलीप यादव, पूर्व में चुनाव लड़ चुके डा.संजय यादव समेत कई नेता कतार में हैं। डा. वर्मा के सपा में शामिल होने के बाद समीकरण बदल गए हैं। भाजपा में भी शिकोहाबाद की टिकट के लिए दावेदारों की लंबी कतार है।

-----------

टिकट से पहले शुरू होने लगा सपा में विरोध

भाजपा छोड़ सपा में शामिल हुए डा.मुकेश वर्मा को टिकट मिलने की संभावना को लेकर विरोध शुरू गया है। गुरुवार में मुस्लिम समाज के नेताओं ने बैठक कर डा. वर्मा के संभावित टिकट का विरोध किया। आरोप लगाया कि जब सोलर लाइट लगवाने की मांग की गई तो तंज कसा गया कि मुस्लिम क्षेत्र से उन्हें वोट नहीं मिला था। शुक्रवार को अधिवक्ताओं की बैठक में भी टिकट दिए जाने को लेकर विरोध हुआ। सिरसागंज से सपा विधायक के भाजपा में आने के बाद समीकरण बदले हैं। पहले से आधा दर्जन नेताओं ने दावेदारी की थी। राष्ट्रीय नेतृत्व का फैसला जल्द आ जाएगा, जो सबको मान्य होगा।'

-मानवेंद्र सिंह लोधी, जिलाध्यक्ष भाजपा

शिकोहाबाद विस के लिए अब तक तीन लोगों की प्रमुख दावेदारी थी। भाजपा विधायक डा. मुकेश वर्मा के पार्टी में आने के बाद अब चार दावेदार हैं। सपा प्रमुख इस पर फैसला करेंगे।

-रमेश चंचल, जिलाध्यक्ष सपा

Edited By: Jagran