फीरोजाबाद, जासं,आपात स्थिति में बाहर से फीरोजाबाद आ रहे लोगों को ठहराने के लिए प्रशासन ने जनपद के नौ स्थानों पर अस्थाई आश्रय स्थल बनवा दिए हैं। यहां जरूरी सभी इंतजाम हैं, लेकिन अधिकतर खाली पड़े हुए हैं। जागरण टीम ने मंगलवार को आश्रय स्थलों का भ्रमण कर प्रशासनिक व्यवस्थाएं जानी। शहर के दो आश्रय स्थलों में से सिर्फ एक में एक परदेसी ठहरा मिला।

हाईवे किनारे स्थित तिलक इंटर कॉलेज में बनाए गए आश्रय स्थल पर दोपहर 11.30 बजे टीम पहुंची तो कोई परदेसी ठहरा हुआ नहीं मिला। सदर तहसील के आधा दर्जन कर्मचारी मिले। पूरा कॉलेज अधिग्रहीत किए जाने की वजह से यहां एक हजार लोग ठहराए जा सकते हैं। कॉलेज मैदान पर नगर निगम का बायो टॉयलेट व पानी का टैंकर खड़ा था। हाथ धोने के लिए साबुन रखा था। संग्रह अमीन सोबरन सिंह ने बताया कि सोमवार शाम को यहां आश्रय स्थल बनवा दिया गया, लेकिन अभी तक कोई ठहरने के लिए नहीं पहुंचा है। कॉलेज के पूरे परिसर को सेनेटाइज करा दिया गया है। जबकि शहर के दूसरे आश्रय स्थल जैन मंदिर धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश, मंडी के सुभाष चन्द्र पुत्र नरायन सिंह ठहरे मिले। उन्होंने मंगलवार दोपहर में बताया कि उन्हें हमीरपुर से गाजियाबाद जाना है। कोरोना की दहशत की वजह से वह हमीरपुर में नौ दिन रुके रहे। सोमवार को प्रशासन ने राहगीरों को ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था की। सोमवार दोपहर तीन बजे बस ने उन्हें फीरोजाबाद के सुभाष तिराहे पर उतार दिया। इसके बाद से वह यहां ठहरे हुए हैं। यहां ड्यूटी कर रहे संग्रह अमीन धर्मेद्र पाठक ने बताया कि यहां सभी व्यवस्थाएं हैं, लेकिन ठहरने वालों का इंतजार है। - फर्श पर गद्दों की व्यवस्था

इन दोनों आश्रय स्थलों पर तख्त या चारपाई की व्यवस्था नहीं है। फर्श पर गद्दे बिछवा दिए गए हैं। तहसील कर्मियों ने बताया कि गद्दों पर बिछवाने व ओढ़ने के लिए चादर है। जैन धर्मशाला आश्रय स्थल पर ठहरे सुभाष चन्द्र ने बताया कि कोई दिक्कत नहीं है। समय-समय पर खाने को मिल रहा है। चिकित्सकीय टीम पहुंची स्वास्थ्य परीक्षण करने

सीएमओ कार्यालय के डॉक्टर जीसी पालीवाल की अगुवाई में चिकित्सकीय टीम दोपहर में इन दोनों आश्रय स्थलों पर थर्मल स्कैनिग मशीन लेकर स्वास्थ्य परीक्षण करने पहुंची। टीम ने व्यवस्था की देखरेख में लगे तहसील कर्मियों का भी परीक्षण किया। सभी स्वस्थ मिले।

---

टूंडला के बीरी सिंह कॉलेज में बना क्वारंटाइन सेंटर

नगर के ठा.बीरी सिंह इंटर कॉलेज में क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। जनपद की सीमा में आने वालों को अब इसी विद्यालय के पांच कक्षों में रखा जाएगा। मंगलवार को क्वारंटाइन सेंटर पर एसडीएम केपी सिंह तोमर, सीओ अजय चौहान, ईओ श्रीचन्द, तहसीलदार गजेन्द्र पाल सिंह व इंस्पेक्टर ज्ञानेन्द्र कुमार पहुंचे। जहां बाहर से आने वाले लोगों को रुकवाया। ईओ ने बताया कि लोगों के रुकने के लिए पूरे केन्द्र को सेनेटाइज कराया गया है। 14 अप्रैल तक यहां आने वाले लोगों को रोका जाएगा। लॉक डाउन समाप्त होने के बाद ही यहां रुकने वाले लोगों को गंतव्य के लिए रवाना किया जाएगा। एसडीएम ने बताया कि राजस्व विभाग की ओर से खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। सोमवार को करीब एक दर्जन लोग यहां ठहरे थे, जो रात में जांच के बाद वाहनों से अपने-अपने गंतव्य को रवाना हो गए। सीएचसी अधीक्षक डॉ.संजीव वर्मा ने बताया कि बाहर से आने वाले लोगों को जांच के बाद ही यहां रोका जाएगा। टीम में डॉ. निशा अंसारी, अमित कुमार शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस