फीरोजाबाद, जागरण संवाददाता। शुक्रवार को खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई की। इस दौरान तीन स्थानों पर बिना लाइसेंस एवं मानक के पानी का कारोबार चलता मिला। अधिकारियों ने तीनों प्लांट बंद करा दिए। उसके बाद कई स्थानों से मिलावट होने का संदेह होने पर दूध एवं पनीर का नमूने संकलित किए।

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी वीएस कुशवाह के नेतृत्व में टीम कश्मीरी गेट स्थित पानी पाउच के प्लांट पर पहुंचे। प्लांट स्वामी सारिक हसन से लाइसेंस एवं बीआइएस का प्रमाण पत्र मांगा, लेकिन वह दिखा नहीं सका। पानी का नमूना संकलित करते हुए प्लांट को बंद करा दिया। उसके बाद पानी पाउच विनिर्माण केंद्र एरो ब्रांड पर पहुंचे। विक्रेता वसीम न तो लाइसेंस दिखा सका न बीआइएस प्रमाण पत्र। सिरसागंज के गांव सेवापुरी में भी बिना लाइसेंस एवं बीआइएस प्रमाण पत्र के पानी का प्लांट संचालित मिला। अधिकारियों ने इन्हें भी बंद करा दिया। धातरी स्थित ढाबे से पनीर, गंगा नगर स्थित मधुवन डेयरी से दूध, कोटला चुंगी से दीपक पुत्र सुरेंद्र, मुन्नालाल पुत्र मेवालाल, बबलू पुत्र मोतीराम, अशोक पुत्र ग्याप्रसाद, राजपाल पुत्र फोरन सिंह, अमित पुत्र संतराम पुत्र मनीराम के खाद्य प्रतिष्ठानों से दूषित खाद्य पदार्थों को फिंकवाया गया। अधिकारियों की कार्रवाई से दुकानदारों में खलबली मच गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस