जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: वर्षों से बदहाल गलियों की समस्या से जूझ रहे दुर्गेश नगर के लोगों को निर्माण शुरु होने की उम्मीद जागी, लेकिन पार्षद ने अड़ंगा डाल दिया। रविवार को ठेकेदार निर्माण कराने पहुंचा तो पार्षद ने मजदूरों को भगा दिया। यह देखकर क्षेत्रीय महिलाओं और पुरुषों में रोष पनप गया। सभी लोग विरोध करते हुए हंगामा करने लगे। बाद में महिलाएं और पुरुष एकत्रित होकर रसूलपुर थाने पहुंचे।

वार्ड नंबर 47 के क्षेत्र दुर्गेश नगर की आंतरिक गलियां वर्षों से बदहाल पड़ी हैं। बरसात में गलियां दलदल बन जाती हैं। समस्या से आजिज आ चुके लोगों ने कई बार धरना प्रदर्शन भी किए। विगत माह नगर निगम प्रशासन ने क्षेत्र की गलियों का निर्माण कराने के लिए टेंडर जारी किया। रविवार को ठेकेदार मजदूरों के साथ निर्माण कार्य कराने के लिए पहुंचे। जानकारी मिलने पर क्षेत्रीय पार्षद संतोष कुमार मौके पर पहुंच गए। उन्होंने आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए ठेकेदार को वहां से भगा दिया। यह देखकर वहां महिलाएं और पुरुष एकत्रित हो गए। निर्माण कार्य रुकवाने के विरोध में सभी लोग हंगामा करने लगे।

सूचना मिलने पर रसूलपुर थाना इंस्पेक्टर बीडी पांडे पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। उसके बाद सभी लोग थाने पहुंचे।इंस्पेक्टर ने समझाकर लोगों को शांत किया। इस दौरान पार्षद का कहना था कि आचार संहिता का उल्लंघन न हो, इसलिए एसडीएम सदर से शिकायत की थी। वहीं लोगों का कहना था कि अचार संहिता लगने से पहले ही शिलान्यास हो चुका है। शहर कांग्रेस सेवा दल के शहर अध्यक्ष नुरुलहुदा लाला राइन गांधी, अब्दुल्ल, सादाब, गुड्डो बेगम, मुन्नी बेगम, सलमा बेगम, रुखसाना, तारा बेगम सहित अन्य महिलाएं और पुरुष मौजूद रहे।

Posted By: Jagran