Move to Jagran APP

UP Accident: फतेहपुर में हाईवे पर काशी विश्वनाथ जा रही दर्शनार्थियों से भरी टूरिस्ट बस डिवाइडर से टकराकर पलटी

यूपी के फतेहपुर में 40 दर्शनार्थी दिल्ली से वाराणसी काशी विश्वनाथ के दर्शन कराने जा रही बस फतेहपुर में प्रयागराज-कानपुर हाईवे पर हादसे का श‍िकार हो गई। ओवरटेक करने में बस को पीछे से ट्रक ने टककर मार दी। दर्शनार्थियों को हादसे में मामूली चोटें आई हैं।

By Jagran NewsEdited By: Prabhapunj MishraPublished: Fri, 26 May 2023 12:29 PM (IST)Updated: Fri, 26 May 2023 12:29 PM (IST)
Accident In Fatehpur: फतेहपुर में हाईवे पर बस पलटी

फतेहपुर, जागरण संवाददाता। Accident In Fatehpur प्रयागराज-कानपुर हाईवे पर थरियांव क्षेत्र के कौंडरपुर के समीप दिल्ली से 40 यात्रियों को लेकर वाराणसी काशी विश्वनाथ के दर्शन कराने जा रही टूरिस्ट बस में शुक्रवार को तड़के तेज रफ्तार ट्रक ने ओवरटेक के प्रयास में पीछे से टक्कर मार दी। जिससे बस बेकाबू होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई।

चीख-पुकार के बीच पुलिस व ग्रामीणों ने बस में फंसे यात्रियों को सकुशल बाहर निकाला। गनीमत रही कि दर्शनार्थियों को मामूली चोटें आईं। इसके बाद दर्शनार्थियों को पुलिस ने दूसरी बस से वाराणसी रवाना कर दिया। बस पलटने से करीब आधा घंटे तक एक लेन का हाईवे बाधित रहा। वर्षा के बीच पुलिस ने बैकहो लोडर मंगवाकर बस को सीधा कराया । हादसे से बस के शीशा क्षतिग्रस्त हो गए।

फिरोजाबाद जिले के नारगी थाने के टूंडला गांव में रहने वाले टूरिस्ट बस चालक किशन वीर सिंह ने बताया कि वह दिल्ली से करीब 40 यात्रियों को लेकर वाराणसी काशी विश्वनाथ के दर्शन को जा रहे थे। कौंडरपुर के समीप पीछे से तेज रफ्तार में आए ट्रक ने ओवरटेक के प्रयास में साइड से टक्कर मार दी जिससे बस अनयिंत्रित होकर डिवाइडर से टकराई और पलट गई। जिसमें कोई घायल नहीं हुआ, कुछ को मामूली चोटें आई हैं। थाना प्रभारी प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि प्राथमिक उपचार बाद सभी को दूसरी बस से वाराणसी के लिए रवाना कर दिया गया है। बस के रास्ते से हटवा देने पर यातायात पूरी तरह से बहाल है।

वर्षा में भीगे दर्शनार्थी व छतरी में पुलिस कर्मी

हादसे के बाद झमाझम वर्षा शुरू हो गई जिससे बस सवार दर्शनार्थी बचने के लिए पेड़ों की छांव पर खड़े रहे। वहीं पुलिस कर्मी छाता लेकर अपने को भीगने से बचाते रहे। इस बीच एक लेन का हाईवे जाम होने से कई वाहनों की लंबी कतार लग गई। दर्शनार्थी पल-पल की खबर जरिये मोबाइल फोन अपने स्वजन को देते रहे कि बड़ा हादसा टल गया, बाबा विश्वनाथ ने सभी की जान बचा ली।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.