जागरण संवाददाता, फतेहपुर : गंगा का जलस्तर बढ़ने से कटरी के हालात बिगड़ गए हैं। मदारपुर गाव में लगा बंधा टूटने से गाव में पानी घुस गया है। बाढ़ से घिरे तीन गाव से परिवारों का पलायन शुरू हो गया है।

बाढ़ के पानी से घिरे कटरी के गाव में हालात बिगड़ रहे हैं। खतरे को देखते हुए बेनी खेड़ा, काली कुंडी व बिंदकी फार्म गाव के ग्रामीणों ने गाव से पलायन शुरू कर दिया है। उधर मदारपुर गाव में लगाया गया बंधा सोमवार की रात पानी के दबाव में टूट गया। जाड़े का पुरवा गाव के स्कूल में पानी घुस गया। बिंदकी फार्म गाव के योगेंद्र पाल ने बताया बाढ़ का पानी बढ़ रहा है। बेनीखेड़ा गाव के ग्रामीणों ने निकलना शुरू किया है। अन्य गांवों के परिवार भी निकलने के तैयारी कर रहे हैं। उधर एसडीएम सुशील कुमार गोंड ने बताया बाढ़ प्रभावित गाव हाई अलर्ट पर हैं। नाव लगा दी गई हैं। दूसरे काली कुंडी, बेनी खेड़ा बिंदकी फार्म गाव के लोगों का निकलना शुरू हो गया है।

- - - - - - - - - -

जोखिम उठा स्कूल पहुंच रहे शिक्षक

बाढ़ प्रभावित गावों में खुले स्कूलों में शिक्षक जान जोखिम में डालकर पहुंच रहे हैं। जाड़े का पुरवा प्राथमिक विद्यालय में पानी भरने के कारण गेट पास ही कक्षाएं लगानी पड़ीं। बीईओ अनीता शाह ने बताया, बाढ़ के हालात को देखते हुए स्कूलों को सम्बद्ध किया जाएगा। बाढ़ का पानी पारकर शिक्षकों का आना जाना जोखिम भरा है।

- - - - - - - - - -

कौड़िया गलाथा में पहुंचा पानी

बाढ़ का पानी अब गलाथा, कौड़िया, आशापुर, अभयपुर, मानिकपुर, शिवराजपुर गाव की खेती भी बाढ़ के पानी से डूब गई है। इन गाव तक पानी आना बड़े खतरे का संकेत माना जा रहा है।

Posted By: Jagran