संवाद सूत्र, जहानाबाद : नियत ने मांशी के साथ क्या खूब खेल खेला। शादी के बाद मिली अपार खुशियां चार दिन में ही उजड़ गईं। अभी उसकी हाथ की न मेहंदी छूटी थी न पांव की महावर, पर जीवन साथी छूट गया। दुर्घटना में पति की मौत ने जीवन भर का गम दे दिया।

कस्बा जहानाबाद के मोहल्ला सानी गढ़वा निवासी किशन सैनी के 24 वर्षीय पुत्र शैलेंद्र सैनी की 29 नवंबर को मलवां थाना क्षेत्र के गांव तारापुर असवार गांव निवासी रामबाबू सैनी की पुत्री मांशी उर्फ पिकी के साथ हुई। एक दिसंबर को शैलेंद्र मौसेरी बहन को बाइक से जनपद कानपुर नगर थाना व कस्बा साढ़ छोड़ने गए थे। लौटते समय साढ़ थाना क्षेत्र के कुंदौली ईंट-भट्ठा के समीप अज्ञात वाहन की टक्कर से गंभीर रूप से जख्मी हो गया। स्वजन इलाज के लिए कानपुर के एक निजी अस्पताल ले गए। हालत में सुधार न होने पर स्वजन शुक्रवार की देर रात लखनऊ मेडिकल कालेज ले जा रहे थे, इसी दौरान रास्ते उसकी मौत हो गई। दुर्घटना में मौत की खबर सुनकर नवविवाहिता बदहवास हो गई।

Edited By: Jagran