जागरण संवाददाता, फतेहपुर : एलएलआर अस्पताल कानपुर में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता के बयान लेने के बाद गांव पहुंचीं राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य कमलेश गौतम ने कहा कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए वह किसी भी हद तक लड़ेंगी। पीड़िता बयान दे रही है कि दुष्कर्म के बाद उसे जलाया गया लेकिन जिम्मेदार पीड़िता पर ही लांछन लगा रहे हैं कि उसने खुद आग लगाई है। यदि उसने आग लगाई है कि केरोसिन का डिब्बा कहां गायब हो गया। पंचायत की बात कहकर पुलिस घटना को मोड़ दे रही है। सवाल उठाया कि क्या दुष्कर्म व जिदा जलाने के प्रयास जैसे मामलो में पंचायत निर्णय देगी।

उन्होंने पीड़िता के घर पहुंच कर स्वजनों से जानकारी ली। कहा कि पीड़िता की उम्र 18 से 19 वर्ष के मध्य है, इसी का फायदा उठाकर आरोपित ने उससे संबध बनाए। पीड़िता ने यहां तक बताया है कि आरोपित उसे पीटकर प्रताड़ित करता था और घटना के एक दिन पूर्व भी उसके साथ गलत काम किया था। वह अतिशीघ्र एयर एंबुलेंस के जरिए उसे दिल्ली स्थित सफदरगंज हॉस्पिटल में भर्ती करवाएंगी।

...........

आरोपित अपने घर से लाया था केरोसिन की पिपिया

उन्होंने कहा कि पीड़िता का बयान है कि वह बकरियों के लिए चारा लेने जा रही थी तभी आरोपित ने उसके सिर पर भारी वस्तु से प्रहार किया। फिर छत से केरोसिन भरी पिपिया लाया और दुष्कर्म करने के बाद उसे जला दिया। अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि पुलिस पीड़िता के साथ न देकर आरोपित को बचा रही है।

........

सीओ सिटी से किए सवाल जवाब

सदस्य : बताइए, आग कैसे लगी।

जवाब : पंचायत के निर्णय से क्षुब्ध होकर युवती ने खुद आग लगा ली।

सदस्य : आपने कैसे कह दिया कि लड़की ने खुद आग लगाई है, जबकि मैं खुद उससे मिलकर आई हूं।

जवाब : पंचायत में शामिल लोगों ने घटनाक्रम बताया है। युवती ने जिस समय आग लगाई आरोपित पंचायत में था।

सदस्य : पुलिस ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए सब झूठी कहानी गढ़ी है, पंचायत क्या होती है कानून के मामले में।

जवाब : पीड़िता के बयान व भाई की तहरीर पर दुष्कर्म व मार डालने के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर आरोपित को जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस