जागरण संवाददाता, फतेहपुर : सरकारी स्कूलों में संचालित हो रही ई-पाठशाला अब प्राइवेट निजी मान्यता प्राप्त स्कूलों में भी चलेंगी। बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने पाठशाला के संचालन में निजीविद्यालयों को शामिल किया है। महानिदेशक का मानना है कि प्राइवेट विद्यालयों में 50 प्रतिशत बच्चे पढ़ते हैं। स्कूलों की बंदी के चलते पढ़ाई प्रभावित हो रही है। पढ़ाई को प्रभावी बनाने के लिए ई-पाठशाला में ऑडियो और वीडियो का सहारा लेने के निर्देश दि हैं। ई-पाठशाला के लिए जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान और बेसिक शिक्षा को जिम्मेदारी दी गई है।

........

कुल सरकारी स्कूल : 2129

मान्यता प्राप्त स्कूल : 1457

........

दीक्षा एप पर विभाग ने डालीं पांच हजार ऑडियो-वीडियो क्लिप

खंड शिक्षाधिकारी मुख्यालय राकेश सचान बताते हैं कि कोविड-19 के चलते स्कूलों में बंदी चल रही है। ऐसे में पठन-पाठन को प्रभावी बनाने के लिए शासन स्तर से काम हो रहा है। ई-पाठशाला को प्रभावी बनाने केलिए दीक्षा एप को मजबूत किया गया है। प्रभावी पठन पाठन तहत पांच हजार आडियो-वीडियो डाले गए हैं। इन वीडियो और ऑडियों के माध्यम से कक्षा 3 से 8 तक के बच्चे पढ़ाई करेंगे।

...क्या बोले जिम्मेदार..

पढ़ाई को प्रभावी बनाने के लिए ई-पाठशाला व्यवस्था लागू की गई है। सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को इससे जोड़ा गया है। जिले में क्रियान्वयन की जिम्मेदारी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान को दी गई है। इसकी मानीटरिग कराई जाएगी। फिसड्डी पठन पाठन पर संबंधित स्कूल पर कार्रवाई होगी। शिवेंद्र प्रताप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस