जागरण संवाददाता, फतेहपुर : कोरोना के कारण प्रभावित हो रही बच्चों की पढ़ाई को व्यवस्थित करने के लिए शासन स्तर पर मंथन किया जा रहा है। शिक्षा सत्र की शुरुआत में पढ़ाई को वाट्सएप के जरिए शुरू कराया गया था। अपर मुख्य सचिव ने अब इसमें रोक लगा दी है और निर्देश दिए हैं कि अब गूगल मीट के जरिए अब कक्षा में पढ़ाई करवाई जाएगी। इसके लिए कार्यशाला का आयोजन होना और प्रत्येक विद्यालय से एक शिक्षक को इस विधा के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

कोरोना काल में अब स्कूलों में वाट्स एप के बजाए गूगल मीट और वीडियो से पढ़ाई कराई जाये। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग में तैयारियां शुरू हो गई हैं। जिले में चार से 10 अगस्त तक कार्यशाला का आयोजन होगा। इसमें सभी राजकीय, अशासकीय और मान्यता प्राप्त वित्तविहीन स्कूलों के एक एक चयनित अध्यापक भाग लेंगे।

डीआइओएस महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि गूगल मीट पर वीडियो के जरिए सीधे कक्षाओं में पढ़ाई कराई जाएगी, जो सीधे घरों से पढ़ाई करने वाले बच्चों तक पहुंचाया जाएगा। जिले में बनाए गए 34 जोन के अंतर्गत शिक्षक-शिक्षिकाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। 10 अगस्त तक प्रशिक्षण पूरा कराकर शासन को प्रशिक्षित शिक्षकों की सूची भेजी जाएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस