फतेहपुर /बिंदकी अंप्र : बारिश ने व्यापारियों व किसानों को लम्बे नुकसान में पहुंचा दिया है। बिंदकी मंडी सहित क्रय केंद्रों में पड़ा 25 हजार क्विंटल धान भीग गया है। मौसम खराब होने से तौल बंद हो गई है।

कृषि उत्पादन मंडी समिति बिंदकी से गैर प्रांत के व्यापारियों ने स्थानीय आढ़तियों के माध्यम से धान की खरीद कर आढ़तों के बाहर जमा कर रखा है। यहां से जैसे-जैसे साधन मिल रहा है धान को बाहर भेजने का काम जारी है। गुरुवार की सुबह अचानक मौसम खराब हुआ और बारिश शुरू हो गई। आढ़ती जय कुमार ने बताया कि व्यापारियों को भारी नुकसान है। धान के भीग जाने के बाद उस गुणवत्ता का चावल नहीं बनेगा। अब धूप निकलेगी तो इसे सुखाने में भी कई दिन लग जाएंगें। इसके बाद भी बाहर के लिए लोड हो सकेगा। मौसम का यही हाल और अधिक बारिश हो गई तो व्यापारी संकट में आ जाएगा। आढ़ती आनंद कुमार, राम औतार सोनकर ने कहा धान भीग जाने से उसके चावल की क्वालिटी खराब हो जाएगी। इससे लम्बा नुकसान लगा है। असोथर धान खरीद केंद्र पांच हजार क्विंटल धान किसानों का भीग गया। इसी प्रकार खागा, थरियाव, हसवा सहित अन्य केंद्रों में व्यापारियों सहित किसानों का धान भीग गया है। बताते है कि सरकारी खरीद का भी सैकड़ो क्विंटल धान खरीद भीग गया है। खराब मौसम से यह स्थिति बन गई है कि एक सप्ताह तक खरीद होना मुश्किल हो गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस