जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : शासन की सख्ती के बाद भी कई दुकानदार मिलावटी खाद्य सामग्री बेचने से बाज नहीं आ रहे हैं। खाद्य सुरक्षा टीम ने सोमवार को अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर सरसों के तेल व अरहर दाल के तीन नमूने लिए। इन्हें जांच लिए भेजा जाएगा। पूर्व में भेजे गए 14 नमूने जांच में अमानक पाए गए। दुकानदारों के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी की जा रही है। अभिहित अधिकारी सैय्यद शाहनवाज हैदर आबिदी ने बताया कि गांव रुनी चुरसई निवासी कयूम खान के प्रिस किराना स्टोर प्रतिष्ठान पर जांच कर सरसों तेल, गांव समई नगला निवासी राकेश बाबू के गांव मुरहास कन्हैया बरेली हाईवे स्थित खाद्य प्रतिष्ठान से सरसों तेल एवं मुरहास कन्हैया निवासी अखिलेश सिंह उर्फ पप्पू ठाकुर के श्यामू प्रोवीजन स्टोर से अरहर की दाल का नमूना लिया गया। इन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। पिछले दिनों जांच के लिए भेजे गए 14 नमूने फेल होने की रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इसमें पांचालघाट रोड पर आशीष पाल के दूध, जहानगंज चौराहा निवासी विदेश चंद्र गुप्ता की रंगीन कचरी, लालगेट लिजीगंज के दुकानदार रितेश गुप्ता का डेलीलाइट ब्रांड का कच्ची घानी प्योर मस्टर्ड आयल, नवाबगंज कृष्णा कोल्ड स्टोरेज के निकट अचरा रोड के सिटू का सरसों का तेल, मुरहास कन्हैया निवासी मेसर्स बजरंग किराना स्टोर के दीपक का पैक्ड पापड़, अचरा तिराहा नवाबगंज निवासी खाद्य कारोबारी नीरज का सरसों तेल, न्यू गनीपुर जोगपुर निवासी मिनाज का कचरी-पापड़, आमिलपुर चिलसरा के राजपाल व रमेश चंद्र का दूध, सेंट्रल जेल चौराहा के निकट आनंद कुमार की रंगीन कचरी, अचरा रोड नवाबगंज निवासी राममूर्ति का सरसों का तेल, फर्रुखाबाद के रेलवे रोड स्थित खोवा मंडी में चंद्रकिशोर का खोवा, चिलसरा रोड करबला के पृथ्वीराज यादव का दूध, फतेहगढ़ के तलैयालेन निवासी अजय कुमार गुप्ता का बीकानेरी अग्रवाल ब्रांड के पापड़ का नमूना प्रयोगशाला में जांच के दौरान अमानक पाए गए।

Edited By: Jagran