संवाद सहयोगी, कायमगंज : कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बड़ी खजुरिया निवासी छात्रा की दिमागी बुखार से मौत हो गई। बालिका गांव के प्राथमिक स्कूल में कक्षा पांच की मेधावी छात्रा थी। जिसकी आकस्मिक मौत से परिजनों को गहरा आघात लगा। बालिका का इलाज एक प्राइवेट डाक्टर के यहां चल रहा था।

शमसाबाद विकास खंड के ग्राम कुआंखेड़ा बजीर आलम के मजरा बड़ी खजुरिया निवासी शमसुद्दीन की पुत्री अमरीन (12) को पिछले 5 दिनों से बुखार आ रहा था। परिजन कायमगंज में प्राइवेट डाक्टर के यहां इलाज कराते रहे। परिजनों के मुताबिक बुखार दिमाग पर हो गया था। जिससे रविवार रात उसकी हालत बिगड़ी, परिजन उसे कायमगंज ला रहे थे। लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। परिजन शव लेकर लौट गए। क्या कहते हैं जिम्मेदार

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शमसाबाद के चिकित्साधिकारी डा. डीएस शाक्य ने बताया कि बालिका की मौत के बाबत उनके पास सूचना नहीं आई है। फिर भी टीम भेजकर जानकारी की जाएगी। यदि अन्य कोई रोगी हुआ तो उसका उपचार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दिमागी बुखार मलेरिया से होता है। इसलिए मलेरिया रोकने को मच्छरों से बचाव किया जाना चाहिए।

Posted By: Jagran