जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : आंगनबाड़ी व सहायिका की भर्ती प्रक्रिया के तहत किए गए आवेदनों में फर्जी दस्तावेजों की भरमार मिल रही है। पहले चरण में सहायिकाओं के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पद पर प्रोन्नति के लिए आवेदनों के परीक्षण के दौरान कई मामलों में बिना नियुक्ति के ही कई महिलाओं ने प्रोन्नति के लिए आवेदन कर देने के मामले सामने आए हैं। वहीं लगभग ढाई हजार आवेदकों ने तो सत्यापन के डर से अपने दस्तावेजों की मूल कापी ही प्रस्तुत नहीं की है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी भारत प्रसाद ने बताया कि आंगनबाड़ी व सहायिका की भर्ती में कुल 54 सहायिकाओं ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के पद पर प्रोन्नति के लिए आवेदन किया था। इनमें आनलाइन जांच के दौरान काफी दस्तावेज फर्जी पाए जा रहे हैं। अधिकांश मामलों में आयु कम करने के लिए हाइस्कूल की फर्जी मा‌र्क्सशीट लगाई गई है। पत्योंजा की सहायिका कमला देवी ने आयु कम दर्शाने को फर्जी अंकपत्र लगा दिया। इसी प्रकार कटिया गांव की फातिमा नामक महिला ने आवेदन किया है जो सहायिका हैं ही। शहर में बौद्ध नगर की आकांक्षा सक्सेना ने दूसरे वार्ड में आवेदन कर दिया है। रूपपुर मंगलीपुर की मुन्नी देवी ने किसी और की हाईस्कूल की मा‌र्क्सशीट लगा दी है। यही हाल चिलौली की अनुपम का है। उन्होंने भी फर्जी मा‌र्क्सशीट लगा दी है। उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी पद के लिए कुल 6300 आवेदन आए हैं। इनमें से लगभग ढाई हजार ने तो दस्तावेजों की हार्ड कापी ही जमा नहीं की है।

Edited By: Jagran