मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : गुड फ्राइडे के अवसर पर शहर की चर्चो में प्रार्थना सभाएं आयोजित हुईं। यहां प्रभु यीशु मसीह को याद कर उनके जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला गया।

सीएनआई चर्च बढ़पुर में शुक्रवार को गुड फ्राइडे के चलते सुबह से ही अनुयायियों का आना शुरू हो गया। दोपहर को पादरी जयपाल मैसी ने मोमबत्ती जलाकर प्रार्थना सभा की। गुड फ्राइडे पर प्रकाश डालते हुए पादरी जयपाल मैसी ने कहा, ईसाइयों के गुरू यीशु मसीह को यहूदियों ने जब क्रूस पर लटकाया था। उस दिन फ्राइडे था। क्रूस पर लटकाने के तीन दिन बाद ही यीशु मसीह फिर जिंदा हो गए। उनके जिदा होने की खुशी में ईस्टर संडे मनाया जाता है। प्रभु यीशु मसीह ने मानवता की भलाई और उनकी रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया था। इस अवसर पर पादरी लूथर मैसी, सेक्रेटरी जगदीप लाल, एएस विल्किसन, अमित दयाल, आशीष सहाय, शिल्पी राज, राजीव केलाल और रीतेश ऑलिब आदि रहे। इसके अलावा ऑल सोल्स चर्च, रखा चर्च फतेहगढ़ आदि में भी प्रार्थना सभा की गईं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप