संवाद सूत्र, संकिसा (फर्रुखाबाद) : मेरापुर थाना क्षेत्र अवैध आतिशबाजी बनाने व भंडारण का हब बनता जा रहा है। गांव देवसनी में हुआ विस्फोट लोग भूल नहीं पाए थे कि गांव कुरार के एक मकान में सोमवार शाम आतिशबाजी का जखीरा मिला है। पुलिस ने गृहस्वामी को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी। बोरियों में विस्फोटक पदार्थ होने की आशंका जताकर फारेंसिक टीम को बुलाया गया है।

गांव कुरार निवासी शाकिर के घर में बोरियों भरकर अक्सर बाहर से सामान लाया और ले जाया जाता था। इससे ग्रामीणों को शक हुआ तो पुलिस तक जानकारी पहुंची। शाम को थाना प्रभारी धर्वेंद्र कुमार फोर्स लेकर शाकिर के घर पहुंचे। पुलिस को वहां छह बोरियों में भरी आतिशबाजी मिल गई। जिसमें कुछ विस्फोटक पदार्थ होने की आशंका है। आसमान में चलाए जाने वाले गोले में इस्तेमाल होने वाली दो तोपें भी मिली हैं। पुलिस ने शाकिर को हिरासत में लेकर थाने भेज दिया। शाकिर की पुत्री शबनम ने बताया कि पिता का एक हाथ क्षतिग्रस्त है। वह विवाह समारोह में आतिशबाजी चलाने की बुकिग करते हैं। शाम को कायमगंज क्षेत्र में दो बरातें बुक थीं, जहां आतिशबाजी जानी थी। पिता आतिशबाजी फर्रुखाबाद से खरीद कर लाते हैं। विदित है कि 20 जून को गांव देवसनी निवासी निरंजन लाल दिवाकर के घर में आतिशबाजी का धमाका हुआ था, जिसमें निरंजन लाल के पुत्र अनुराग सहित दो लोगों की मौत हो गई थी। एक युवक घायल हुआ था। थाना प्रभारी ने बताया कि फारेंसिक टीम को बुलाया गया है। जांच के बाद ही तय हो सकेगा कि आतिशबाजी किस क्षमता की है। शाकिर के पास आतिशबाजी बनाने और रखने का कोई लाइसेंस नहीं है। नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran