Move to Jagran APP

यूपी के इस जिले में चलाया जाएगा अतिक्रमण हटाओ अभियान, शहर की 22 सड़कें हुईं चिह्नित

UP News उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापारियों के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक में अतिक्रमण हटाओ अभियान के लिए शहर की 22 मुख्य सड़कों को चिह्नित किया गया है। साथ ही ई-रिक्शा के रूट निर्धारण को लेकर कमेटी का गठन किया गया।

By tafheen khan Edited By: Abhishek Pandey Wed, 10 Jul 2024 11:00 AM (IST)
कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक करते जिलाधिकारी डा. वीके सिंह। स्रोत : जिला प्रशासन

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद।  जाम की समस्या से निजात की योजना पर विचार के लिए मंगलवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान अतिक्रमण हटाओ अभियान के लिए शहर की 22 मुख्य सड़कों को चिह्नित किया गया।

डीएम ने रेलवे रोड पर अंडरग्राउंड विद्युत केबिल के लिए आंकलन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। ई-रिक्शा के रूट निर्धारण को समिति गठित की गई। जिलाधिकारी डा. वीके सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में शहर में अतिक्रमण हटाने के लिए 22 सड़कों की सूची अधिशासी अधिकारी नगर पालिका द्वारा तैयार की गई। उपस्थित व्यापारियों की सलाह पर बाद में शहर की अन्य प्रमुख सड़कों को भी शामिल करने को कहा गया।

पोल शिफ्टिंग के लिए दोबारा किया जाएगा मूल्यांकन

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता विद्युत (नगरीय खंड) को रेलवे रोड पर अंडरग्राउंड विद्युत केबिल के लिए सर्वे कर आंकलन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। विद्युत विभाग की ओर से दिए गए रेलवे रोड पर पोल शिफ्टिंग के इस्टीमेट का दोबारा मूल्यांकन करने के निर्देश दिए गए। इसके लिए अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग की अध्यक्षता में समिति गठित की गई।

शहर में चल रहे ई-रिक्शा के रूट निर्धारण के लिए नगर मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में सीओ ट्रैफिक, सीओ सिटी, एआरटीओ व व्यापार मंडल के चार सदस्यों की कमेटी गठित की। कमेटी को एक सप्ताह में रूट प्लान प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने लाल चौक में पार्किंग स्थल बनाने के लिए चिह्नित स्थान का भी निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि सभी स्कूलों के प्रिंसिपल से बात कर स्कूलों की छुट्टी के समय में अंतर कराया जाए। ईओ नगर पालिका को ठेली व फड़ विक्रेताओं को वेंडिंग जोन में स्थान उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। श्रम विभाग को साप्ताहिक बंदी का सख्ती से पालन कराने को कहा गया। बैठक में पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी, नगर मजिस्ट्रेट संजय बंसल, उपजिलाधिकारी सदर रजनी कांत, सीओ ट्रैफिक जय सिंह परिहार आदि मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: शाहजहांपुर में आफत बनी बाढ़; खन्नौत नदी खतरे के निशान से ऊपर, शहर की सड़कों पर आया पानी; कई मुहल्लों में जलभराव