जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : भ्रष्टाचार, महंगाई, किसान व छात्रों की समस्या के विरोध में समाजवादी पार्टी ने सोमवार को नगर पालिका कार्यालय के सामने धरना दिया। पूर्व सांसद चंद्रभूषण ¨सह 'मुन्नू बाबू' ने पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की मूल्यवृद्धि पर केंद्र व राज्य सरकार को घेरते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी।

पूर्व सांसद मुन्नूबाबू ने आरोप लगाया कि लोगों को उम्मीद थी कि केंद्र सरकार बदलने से राहत मिलेगी, लेकिन चार साल में ही स्थित खराब हो गयी, बैंक घाटे में चले गये। गरीबों ने सोचा कि उनके खातों में ब्लैकमनी का जब्त रुपया आएगा, वह भी नहीं आया। महानगर अध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि वह भी व्यापारी हैं। नोटबंदी से व्यापारियों का नुकसान हुआ। काम लगभग ठप हो गया। पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रपाल ¨सह यादव, महेंद्र कटियार, रजत क्रांतिकारी आदि ने विचार व्यक्त किए। संचालन बंटी यादव ने किया। जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुकी व पूर्व सांसद ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर ईशान प्रताप ¨सह को सौंपा। सीओ सिटी रामलखन सरोज व मऊदरवाजा थाना प्रभारी मौजूद रहे। अभिषेक ¨सह सिक्की, सुरेंद्र ¨सह गौर, पुष्पेंद्र यादव, अर¨वद कश्यप व मुमताज बेगम मंसूरी आदि मौजूद रहे। धरना स्थल से उठकर बाहर घूम रहे कार्यकर्ताओं पर जिलाध्यक्ष ने नाराजगी भी जताई। उन्होंने कहा कि जो लोग बाहर घूम रहे हैं, उनकी उपस्थित नहीं मानी जाएगी। कई वरिष्ठ पदाधिकारी नदारद भी रहे।

Posted By: Jagran