जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : बैंक कर्मी की पत्नी नूतन के शव का पोस्टमार्टम शनिवार अपराह्न दो डाक्टरों के पैनल से वीडियोग्राफी के बीच किया गया। पोस्टमार्टम की कार्रवाई में 45 मिनट का समय लगा। इस कार्रवाई के बाद शव को मायके पक्ष के लोगों को दे दिया गया।

फतेहगढ़ कोतवाली के मोहल्ला नगला दीना (सैनिक कॉलोनी) निवासी बद्रीविशाल महाविद्यालय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के लिपिक प्रदीप उर्फ कमल सिंह सोमवंशी की पत्नी नूतन का शव विगत शुक्रवार सुबह कमरे में फंदे पर लटका मिला था। नूतन के पिता अमृतपुर थाना क्षेत्र के गांव नगला हूसा निवासी शिवराज सिंह गहलवार ने आरोपितों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। कागजी कार्रवाई देरी से होने के चलते नूतन के शव पोस्टमार्टम शुक्रवार को नहीं हो सका था। शनिवार अपराह्न 11 बजे चिकित्सक सोमेश अग्निहोत्री और चिकित्सक सौरभ कटियार के पैनल से वीडियोग्राफी के बीच पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू हुई जो 11:45 बजे पूरी की गई। सूत्रों के मुताबिक महिला के पेट के पास एक चोट मिली है। उसकी मौत फांसी से हुई है। हैंडराइटिग का होगा मिलान

कमरे में नूतन के शव के पास एक सुसाइड नोट मिला था। फारेंसिक टीम ने नोट को कब्जे में लिया और नूतन की राइटिग का मिलान किया। मिलान न होने पर अब पुलिस सुसाइड नोट को एक्सपर्ट के पास भेजेगी। ताकि राइटिग का मिलान हो सके। फतेहगढ़ कोतवाल अजय नारायण सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट की राइटिग का मिलान कराया जाएगा। पुलिस के हाथ नहीं लगे आरोपित

हत्या के मामले में फरार चल रहे आरोपित पुलिस के हाथ दूसरे दिन भी नहीं लग सके। हालांकि पुलिस उनकी तलाश कर रही है। जब कि परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने पति को भगाने में मदद की थी। अगर पुलिस चाहती तो आरोपित मौके से पकड़ा जा सकता था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप