अयोध्या : सावन के अंतिम सोमवार व बकरीद के एक साथ होने के कारण सुरक्षातंत्र ने सतर्कता बढ़ा दी है। संवेदनशीलता को देखते हुए शहर को पैरामिलिट्री फोर्स के हवाले कर दिया गया है। आरएएफ के साथ बीएसएफ को भी निगरानी में लगा दिया गया है। रविवार को बकरीद की पूर्व संध्या से ही शहर में पैरामिलिट्री फोर्स की गश्त बढ़ा दी गई है।

एसपी सिटी विजयपाल सिंह व सीओ सिटी अरविद चौरसिया के नेतृत्व में आरएएफ व बीएसएफ ने शहर में पैदल गश्त की। सिविल लाइन ईदगाह की जायजा लेने के बाद शुरू हुई गश्त मोहरा, रामनगर, नाका, फतेहगंज, कसाबबाड़ा, चौक, रिकाबगंज, नियावां व कंधारीबाजार होते हुए वापस सिविल लाइन आकर समाप्त हुई। गश्त के दौरान सीओ सिटी ने आम लोगों से मिलकर सुरक्षा व निगरानी में सहयोग मांगा तथा संदिग्धों की सूचना तत्काल पुलिस को देने की अपील की।

अयोध्या और फैजाबाद शहर में अतिरिक्त सुरक्षा और निगरानी बरती जा रही है। रविवार को भी नमाज के ²ष्टिगत ईदगाह का निरीक्षण किया। सीओ सिटी ने बताया कि नमाज के वक्त ईदगाह की ओर सभी प्रकार के वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। सुरक्षा कर्मियों को पर्याप्त संख्या में लगाया जाएगा। प्रयास किया जा रहा है कि जिन-जिन स्थानों पर नमाज अदा होनी है, वहां पुलिस कर्मी तैनात रहें।

ईदगाह क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे की भी व्यवस्था की गई है। पर्व के दौरान अशांति पैदा करने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। अयोध्या में सावन के अंतिम सोमवार पर कांवड़ियों की भी भीड़ उमड़ने की संभावना है। इसलिए पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती चप्पे-चप्पे पर होगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran