अयोध्या : जरूरत से कम दलहनी फसलों के उत्पादन और सहालग के दौरान व्यापारियों की मुनाफाखोरी ग्राहकों की जेब ढीली कर रही हैं। एक माह में थोक और फुटकर बाजार में दालों के भाव तेजी से चढ़े हैं। इससे लगभग तीन साल बाद फिर आम उपभोक्ताओं की थाली से दालें दूर हो रही हैं। अयोध्या-फैजाबाद के मुकाबले गोसाईंगंज, रुदौली, हरिग्टनगंज, बीेकापुर, सुचितागंज, कुमारगंज की मंडियों में दालों की कीमतें दो से पांच रुपये तक अधिक हैं।

मंडियों में अनियमित आवक एवं मुनाफाखोरी के चलते अरहर, चना सहित अन्य दालों की कीमतों में तेजी आई है। अरहर दाल में करीब 20 रुपये प्रति किलोग्राम का इजाफा हुआ है तो वहीं चने की दाल का भाव 15 से 20 रुपये तक चढ़ गया है। दो माह के भीतर उर्द, मूंग, मसूर की दाल की कीमतों में भी पांच से 15 रुपये तक उछाल आया है। गौराघाट के दाल व्यापारी अजय गुप्त का कहना है कि दालों की कीमतों के बढ़ने का यही समय है। बरसात तक कीमतों में आंशिक बढ़ोत्तरी जारी रहेगी। -------------------------- दालों की कीमतों में उछाल की स्थिति

दाल अप्रैल मई

अरहर 65-70 85-90

मसूर 55-60 60-65

मूंग 70-75 75-80

उर्द 60-65 80-85

चना 45-50 55-60

(नोट-कीमत रुपये प्रति किलोग्राम है। )

-------------------------------

जिले में दलहनी फसलों का उत्पादन

फसल क्षेत्रफल उत्पादन

अरहर 2014 1528

उर्द 2799 1083

मसूर 2191 2097

चना 1559 1175

मूंग 13 05

(नोट- क्षेत्रफल हेक्टेयर एवं उत्पादन मीट्रिक टन में)

-------------------------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस