अयोध्या : रामकीपैड़ी की सफाई की जिम्मेदारी अगले वित्तीय वर्ष से सिचाई विभाग संभालेगा। प्रमुख सचिव सिचाई, जल संसाधन एवं नवीन भूमि परती टी. वेंकटेश ने सिचाई विभाग की समीक्षा बैठक में निर्देश दिया। सरयू नहर खंड के गेस्ट हाउस में विभागीय इंजीनियरों के संग बैठक कर रहे थे।

जिले के नोडल अधिकारी टी. वेंकटेश दो दिनी दौरे पर आए हैं। सबसे पहले सोहावल ब्लॉक में चौधरी चरण सिंह पंप से निकली माइनर मंगलसी की सिल्ट की सफाई देखी। उनके साथ मुख्य अभियंता शारदा सहायक राकेश कुमार गुप्त भी रहे। अधीक्षण अभियंता एसके सिंह एवं एक्सईन मनोज सिंह से सिल्ट सफाई के बारे में जानकारी की। उसके बाद वे सीधे परिक्रमा रोड स्थित सरयू नहर के गेस्ट हाउस पहुंचे। समीक्षा बैठक में कहा कि रामकीपैड़ी में अविरल जलप्रवाह शुरू है। पर्यटकों के लिए वहां की साफ-सफाई चुनौती होगी।

कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करें, जिससे अगले वित्तीय वर्ष के लिए धनावंटन कराया जा सके। बैठक में बताया गया कि नयाघाट से गुप्तारघाट तक लगभग 10 किलोमीटर लंबा घाट है, जिसमें करीब डेढ़ किलोमीटर कच्चा है। पक्का कराने के लिए आगणन बनाकर भेजने का निर्देश दिया। सिचाई विभाग की अन्य परियोजनाओं को समय से पूरा करने का निर्देश दिया।

बैठक में अधीक्षण अभियंता नलकूप महेश कुमार पांडेय, एकादश सिचाई मंडल संतोष कुमार सिंह, अधीक्षण अभियंता सरयू नहर संदीप खरे मौजूद रहे। एक्सईन सरयू जय सिंह, एक्सईन नलकूप एनके गौतम व एक्सईन लिफ्ट कैनाल दशरथ सिंह ने बुके देकर स्वागत किया। समीक्षा बैठक के बाद प्रमुख सचिव अयोध्या कोतवाली निरीक्षण को पहुंचे।

मयाबाजार संसू के मुताबिक शुक्रवार को मयाबाजार ब्लॉक में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं नगर पंचायत गोसाईंगंज के निरीक्षण के अलावा दुर्गापुर रमपुरवा ग्राम पंचायत में विकास कार्यों के सत्यापन के अलावा चौपाल लगा सरकारी योजनाओं का सत्यापन करेंगे। दोपहर दो बजे से कलेक्ट्रेट में जिला स्तर अधिकारियों संग बैठक कर लखनऊ वापस होंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप