कुमारगंज(अयोध्या): निवेशकों का करोड़ों रुपया हड़पने वाली पोंजी कंपनी अनीबुलियन के निदेशक धरणीधर उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह काफी दिनों से फरार चल रहा था। उस पर 15 हजार रुपये का पुरस्कार भी घोषित किया गया था।

आरोपी ने कुमारगंज बाजार में कार्यालय खोलकर आसपास के जिलों से करीब पांच हजार निवेशकों को अधिक ब्याज का लालच देकर रुपये निवेश कराया। दो साल पहले कंपनी के कार्यालय में ताला बंद कर धरणीधर फरार हो गया। ठगी के शिकार हुए निवेशकों ने थाने का घेराव कर हंगामा भी किया था। धरणीधर के खिलाफ अयोध्या, लखनऊ, अमेठी, सुल्तानपुर व देवरिया जिले में मुकदमा दर्ज है। उसकी तलाश पुलिस काफी दिनों से कर रही थी। मुखबिर की सूचना पर आरोपी को उसके घर से ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। अब तक पुलिस पोंजी कंपनी के एमडी अजीत गुप्त सहित पांच लोगों को जेल भेज चुकी है। थाना प्रभारी दिनेश सिंह ने बताया कि अनीबुलियन व अनीविजन कंपनी के कई आरोपी मुकदमा दर्ज होने के बाद से फरार हैं। जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी।

....

एक रात में पांच बार दबिश, नहीं मिला आरोपी

-अनी बुलियन कंपनी के एक सदस्य अंजनी कौशल के घर पुलिस ने एक ही रात में पांच बार दबिश दी, लेकिन हर बार पुलिस को खाली हाथ ही लौटना पड़ा। पुलिस को सूचना मिली थी कि अंजनी अपने कुमारगंज स्थित मकान में मौजूद है, जिसके बाद उसके घर पर छापेमारी की गई, लेकिन वह नहीं मिला। अंजनी पर भी कुमारगंज सहित जिले के कई थानों में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज है।

Edited By: Jagran