फैजाबाद : जिले के प्रभारी मंत्री सतीश महाना के सामने कार्यकर्ताओं का दर्द छलका। उपेक्षा और अनदेखी से आहत कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री के सामने अपनी आपबीती सुनाई और पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के रवैये प्रति अपनी नाराजगी भी जाहिर की। जिला व मंडल इकाई के पदाधिकारियों ने विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में पार्टी नेताओं को नहीं बुलाए जाने का मामला भी उठाया। एक के बाद एक नेताओं ने अपनी व्यथा-कथा प्रभारी मंत्री के समक्ष रखी। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने भरोसा दिया कि कार्यकर्ताओं की अनदेखी और उपेक्षा नहीं होगी।

मंगलवार की देरशाम यहां पहुंचे प्रभारी मंत्री ने सर्किट हाउस में पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। इसी दौरान पार्टी नेताओं ने प्रभारी मंत्री के समक्ष अपनी बातों को रखा। पदाधिकारियों ने थाना चौकी से लेकर ब्लॉक और जिला मुख्यालय स्तर तक के कार्यालयों का हाल प्रभारी मंत्री को बताया। प्रभारी मंत्री ने पार्टी नेताओं को आश्वस्त किया कि कार्यकर्ताओं की समस्याओं का हरहाल में निराकरण सुनिश्चित किया जाएगा और अधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी। इससे पहले यहां पहुंचने पर सांसद लल्लू ¨सह, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, विधायक रामचंद्र यादव, वेदप्रकाश गुप्त, इंद्रप्रताप तिवारी खब्बू, गोरखनाथ बाबा, शोभा ¨सह चौहान, जिला प्रभारी शेषनारायण मिश्र, पूर्व जिलाध्यक्ष रामकृष्ण तिवारी, ओमप्रकाश ¨सह, कमलाशंकर पांडेय, विश्वनाथ ¨सह, डॉ. बांकेबिहारी मणि त्रिपाठी, पूर्व विधायक रामू प्रियदर्शी, मथुरा प्रसाद तिवारी, रामदेव आचार्य, जिलाध्यक्ष अवधेश पांडेय बादल, महामंत्री राधेश्याम त्यागी, संजीव ¨सह, उपाध्यक्ष अर¨वद ¨सह, मनोज श्रीवास्तव, अभय ¨सह, जिला मंत्री परमानंद मिश्र, अशोक मिश्र, दिवाकर ¨सह, रोहित पांडेय, हरीश श्रीवास्तव, हरभजन गौड़, सुधीर चौरसिया, रमापति पांडेय, स्मृता तिवारी, ¨बदू ¨सह समेत अन्य नेताओं ने उनका स्वागत किया।

Posted By: Jagran