संवाद सूत्र, रुदौली (अयोध्या) : वृद्ध महिलाओं का हत्यारोपित इमली मानसिक रूप से विचलित होकर भटक गया था। महज एक वर्ष की आयु में ही मां का देहांत होने व पिता का प्यार न मिलने से वह बिगड़ गया। दिसंबर में सूरत से लौटने के बाद वह लगातार घटनाओं को अंजाम दे रहा था। दो जिलों में दहशत का पर्याय बन चुके आरोपी की तलाश में पुलिस की छह टीमें लगी थीं। सोमवार शाम मवई के हुनहुना गांव में महिला से वहशत के दौरान ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

बाराबंकी जिले के असंदरा थाना के सिन्नी सड़वा निवासी हत्यारोपित अमरेंद्र रावत (22) उर्फ इमली को मवई पुलिस ने बुधवार को जेल भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश तिवारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने रामसनेहीघाट में हुई वृद्ध महिलाओं की हत्या का जुर्म कबूल किया। बाराबंकी पुलिस ने भी उससे पूछताछ की है। हत्यारोपित के खिलाफ हत्या, छेड़छाड़, दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं में मवई में एक और रामसनेही घाट कोतवाली में तीन मुकदमे दर्ज हैं।

सिन्नी सड़वा के प्रधान दारा सिंह वर्मा ने बताया कि बचपन में ही उसकी मां का निधन होने के बाद वह अपनी ननिहाल में रहने लगा। वयस्क होने पर वह अपने दादा के साथ सूरत कमाने चला गया। ग्रामीणों के मुताबिक गांव की महिलाओं के साथ भी हत्यारोपित ने अश्लील हरकत कई बार की थी, लेकिन लोग उसका मानसिक संतुलन ठीक न समझ कर छोड़ देते थे। उसकी हरकतें बढ़ती चली गईं। हत्यारोपित अमरेंद्र का मानसिक संतुलन सहीं नहीं रहता था। अधिक उम्र की महिलाओं को देखते ही उस पर खून सवार हो जाता था।

महिलाओं को दबोचते ही मुंह में भरता था मिट्टी

हत्यारोपित ने बाराबंकी जिले के रामसनेहीघाट कोतवाली के ठठरहा व इब्राहिमाबाद गांव में वृद्ध महिलाओं की हत्या एक ही प्रकार से की थी। सीओ सत्येंद्र भूषण तिवारी ने बताया कि महिलाओं को दबोचते ही वह उनके मुंह में मिट्टी भर देता था। हुनहुना गांव में भी महिला को दबोचने के साथ ही मुंह में मिट्टी भर दी थी। उसका उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है।

सीओ ने बताया कि एक मामले में हत्या से पहले दुष्कर्म और दूसरे मामले में हत्या के बाद दुष्कर्म करने की बात उसने कबूल की है। मवई पुलिस आरोपी के घर सिन्नी सड़वा भी गई और आरोपित के स्वजन से भी पूछताछ की।

Edited By: Nitesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट