अयोध्या: जिले में बुधवार को 79 और कोरोना संक्रमित मिले हैं, जबकि ठीक होने वालों का आंकड़ा संक्रमितों से अधिक रहा। बुधवार को 89 और लोगों ने कोरोना से जंग जीत ली। जिले में बुधवार को जांच का आंकड़ा एक लाख पार कर गया। अब तक एक लाख 2246 लोगों की जांच हो चुकी है। जिले में कोरोना संक्रमितों की कुल तादात 4737 हो गई है, जबकि 3705 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अब जिले में कोरोना के कुल 990 केस सक्रिय हैं। पिछले 24 घंटे में 2320 लोगों की जांच की गई।

बुधवार को हुई जांच में सर्वाधिक 25 लोग नगर निगम क्षेत्र में कोरोना संक्रमित पाए गए। हुनमत नगर, पुलिस लाइन, कॉलेज रोड, ऑफिसर हास्टल, हाइडिल कॉलोनी, जमुनिया बाग, जिला महिला अस्पताल, धनीराम का पुरवा, वजीरगंज, कैंट, करमअली का पुरवा, वैदेहीनगर, टकसाल, रामनगर, जनौरा, पदमपुरी, तेलीटोला, आलोकपुरी, शक्तिबिहार, बीएसएनएल ऑफिस के सामने, दिगंबर अखाड़ा में एक-एक पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि सआदतगंज, तहसील सदर व अवधपुरी मे दो-दो पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा अमानीगंज के मोहली, पाकड़पुर, नंदरौली, नरेंद्रदेव यूनिवर्सिटी, खंडासा और महुआ में एक-एक केस पॉजिटिव पाया गया। बीकापुर के रामपुरभगन में दो, चौरेबाजार, मेहराई, दशरथपुर, सूल्हेपुर में एक-एक केस पॉजिटिव पाए गए। हरिग्टनगंज के सेमरा व उरवा में एक-एक केस पॉजिटिव पाया गया। मसौधा के पटेलनगर में सात लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है, जबकि पहाड़गंज, टीचर्स कॉलोनी, पूरे हुसैन, खोजनपुर, रामबोध का पुरवा, शिवनगर, बारुन बाजार, सरियावा, पलिया सहबदी, महावा, चांदपुर, नाका, पूरे बरेसर, बभनगवा में एक-एक केस पॉजिटिव मिले है। वहीं कैल में दो कोरोना संक्रमित पाए गए है। मयाबाजार के गोसाईंगंज, मानापुर में एक-एक, मिल्कीपुर के देवरिया में एक अंबेडकरनगर के भीटी में एक, पूराबाजार के आदर्शपुरम, भीटी का पुरवा, जलालुद्दीन नगर में एक-एक केस पाया गया है। जबकि सोहावल के बड़ागांव और तारुन के वैसठ में एक-एक कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

मेडिकल कॉलेज में कोई भी करा सकता है कोरोना की जांच

चित्र-22

जासं, अयोध्या: जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि राजर्षि दशरथ स्वशासी राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय/कोविड एल-टू चिकित्सालय दर्शन नगर की फ्लू ओपीडी में प्रात: आठ बजे से दोहपर दो बजे के बीच कोई भी व्यक्ति कोरोना की आरटी-पीसीआर, रैपिड एंटीजन व ट्रू-नाट जांच करा सकता है। उन्होंने निरीक्षण के दौरान उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली। कंट्रोल रूम में लगे सीसीटीवी से विभिन्न वार्डों में भर्ती मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सा सुविधाओं व चिकित्सकों के भ्रमण के समय, वार्डों व शौचालयों की साफ-सफाई आदि का निरीक्षण किया। कोरोना वार्डों के अंदर तीमारदारों के रहने पर रोक लगाने के निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने आवश्यकता पड़ने पर फोन के माध्यम से संपर्क कर संक्रमण से बचाव के सभी उपायों का अनुपालन कराते हुए ही वार्ड में प्रवेश देने का निर्देश दिया। मरीजों से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली औषधियों जैसे च्यवनप्राश व गिलोय बटी आदि का भी सेवन करते रहने के लिए कहा। उनके साथ मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर विजय कुमार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अरविद कुमार सिंह व अन्य चिकित्सक मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप