अयोध्या : दीपोत्सव-2019 के कार्यक्रम को भव्यता प्रदान करने के लिए डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विवि ढाई लाख दीपक जलाएगा। इस बार भी भगवान राम व माता सीता के स्वरूप का हेलीकॉप्टर से आगमन होगा। रामकथा पार्क में प्रतीकात्मक राज्याभिषेक के समय हेलीकाप्टर से पुष्पवर्षा की जाएगी। दीपोत्सव कार्यक्रम 26 अक्टूबर को है। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिलाधिकारी अनुजकुमार झा की अध्यक्षता में हुई बैठक में दीपोत्सव कार्यक्रम के सफल आयोजन का खाका खींचा गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि अयोध्या के आस-पास के धार्मिक स्थलों को भी दीपक के माध्यम से प्रकाशमय होना है। कार्ययोजना तैयार कर जिम्मेदारी सौंपे जाने का निर्णय बैठक में हुआ। जिलाधिकारी ने पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिया कि डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय दीया बनाने वाले कुम्हारों से संपर्क कर आगणन तैयार कराएं। राम की पैड़ी पर भगवान राम के जीवन के विभिन्न प्रंसगों पर आधारित वाटर शू (फाउंटेन शू) का भी आयोजन होना है। सिचांई विभाग के अधिकारी दीपोत्सव कार्यक्रम के 15 दिन पूर्व राम की पैड़ी में स्वच्छ जल प्रवाह की समुचित व्यवस्था करेंगे। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी, लोक निर्माण विभाग व अपर जिलाधिकारी नगर संपूर्ण तैयारी करने के लिए जिलाधिकारी ने निर्देशित किया। बताया गया कि दीपोत्सव कार्यक्रम में सरयू की आरती भी पूर्व की भांति होगी, साथ ही रामकथा पार्क में अंतरराष्ट्रीय रामलीलाओं के मंचन भी होगा।

बैठक में उप सूचना निदेशक डॉ.मुरलीधर सिंह को बताया गया कि दीपोत्सव कार्यक्रम में कामता प्रसाद सुंदरलाल साकेत महाविद्यालय से सजीव झांकिया निकाली जाएंगी। दीपोत्सव कार्यक्रम में दिल्ली सहित राज्य स्तर से पत्रकारों तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया कवरेज के लिए समन्वय बनाने को उनसे कहा गया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनंद, अपर जिलाधिकारी नगर डॉ.वैभव शर्मा सहित दीपोत्सव कार्यक्रम से जुड़े सभी विभागों अधिकारी एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप