संवादसूत्र, बसरेहर : देश की मोदी सरकार ने किसानों के लिए खजाना खोल रखा है। किसान भाई एकजुट होकर अगर एक समूह बनाते हैं तो उन्हें फार्म मशीनरी बैंक से 15 लाख रुपये ऋण स्वीकृत किया जाता है जिसमें वह ट्रैक्टर व कृषि के उपकरण खरीद सकते हैं। समूह को महज तीन लाख रुपये ही देने होते हैं जब कि 12 लाख रुपये का अनुदान मिलता है जिससे वे अपने परिवार का उज्जवल भविष्य बना सकते हैं। ऐसी कई योजनाएं हैं जिसका लाभ किसान ले सकते हैं।

यह जानकारी गुरुवार को बसरेहर विकास खंड परिसर में आयोजित किसान मेला में मुख्य अतिथि के रूप में सदर विधायक प्रतिनिधि हरिनारायण वाजपेई ने किसानों को संबोधित करते हुए दी। जिसके बाद नोडल अधिकारी एवं परियोजना निदेशक उमाकांत त्रिपाठी ने किसानों के लिए हितकारी योजनाओं को विस्तार से बताया। उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी प्रमोद कुमार ने केंद्र व राज्य सरकार के द्वारा किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। विकासखंड क्षेत्र के 10 किसानों को कृषि उपकरण भेंट किए गए जिसमें उन्हें कीमत का 50 फीसद अनुदान मिला। पशु चिकित्सा अधिकारी नरेश यादव ने पशुपालन की चल रही योजनाओं के बारे में अवगत कराया। किसान मेला में विभिन्न उपकरणों व अन्य संसाधनों के 34 स्टाल लगाए गए जिन पर किसानों ने जानकारियां प्राप्त कीं।

किसानों की आय दोगुना करने में जुटी सरकार

संवाद सहयोगी चकरनगर : कृषि के क्षेत्र में हो रहे आमूल-चूल परिवर्तन कुछ लोगों को पसंद नहीं आ रहे हैं जो आंदोलन चला रहे हैं जबकि केंद्र और प्रदेश सरकार सभी कार्यक्रम और योजनाएं किसानों के कल्याण के लिए चला रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को पूरा करने के लिए 2022 तक किसानों की आमदनी को दोगुना करने का लक्ष्य है।

यह बात गुरुवार को चकरनगर चंबल घाटी क्षेत्र के निरंजन नगर में आयोजित किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी को संबोधित करते हुए भाजपा नेता नरेंद्र सिंह सेंगर ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कही। उन्होंने ड्रिप इरीगेशन के प्रयोग के लिए क्षेत्रीय किसानों को प्रेरित किया। एसडीएम चकरनगर सत्य प्रकाश मिश्र ने प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रहीं किसान उपयोगी योजनाओं की जानकारी दी। उप कृषि निदेशक एके सिंह ने किसानों को समस्याओं से मुक्ति के लिए प्रेरित करते हुए किसान मेला का उद्देश्य, नई तकनीकी और सरकारी योजनाओं की जानकारी देकर विभागीय उपलब्धियां भी गिनाईं। प्रदर्शनी में कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, रेशम इत्यादि विभागों अपनी-अपनी योजनाओं से सम्बन्धित स्टाल लगाकर जानकारी दी। डीडीओ एंड बीडीओ चकरनगर दीनदयाल वर्मा, जिला कृषि विज्ञान केंद्र समन्वयक कृषि वैज्ञानिक डॉ. मृत्युंजय कुमार सिंह, डॉ वीवी जायसवाल सहायक सांख्यिकी अधिकारी, भाजयुमो के पूर्व जिलाध्यक्ष शेखर चौहान आदि उपस्थित थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप