जागरण संवाददाता, इटावा : कोरोना की तीसरी लहर के लिए जनपद में अस्पताल तैयार किए जाएंगे। इसके संकेत शासन ने दे दिए हैं। बुधवार की रात को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रदेश के सभी जनपदों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिग में यह संकेत दिए गए हैं। अधिकारियों को उसी के अनुरूप तैयारियां करने के लिए कहा गया है।

सीडीओ प्रेरणा सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की संभावना जताई गई है। यह लगातार अपना म्यूटेंट चेंज कर रहा है। उसी के अनुरूप तैयारियां करने को कहा गया है। इसके लिए जनपद में नए वेंटिलेटर खरीदे जाएंगे। ऑक्सीजन सिलिडर की क्षमता को बढ़ाया जाएगा। नए कंसंट्रेंट और उपलब्ध कराए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि जनपद में अगले कुछ दिनों में ही 200 से 300 बेड बढ़ाने की योजना है। 125 बेड वाला बलराम सिंह नर्सिंग कॉलेज एक दो दिन में शुरू हो जाएगा। यहां पर सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएंगी। उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई में जो वेंटिलेटर अन्य वार्डों में लगे हुए हैं उन्हें कोविड के लिए स्थानांतरित किए जाने पर भी विचार चल रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद की रिकवरी दर 99 फीसद है। जो मृत्यु भी हो रहीं हैं वो 60 साल से ऊपर वाले व्यक्तियों की हो रहीं हैं। या फिर जिन्होंने टीकाकरण नहीं कराया है। प्रदेश के अन्य जिलों की अपेक्षा इटावा अच्छी स्थिति में है। होम आइसोलेटिड मरीजों को मिलेगी ऑक्सीजन सीडीओ प्रेरणा सिंह ने बताया कि इटावा में इंटीग्रेटिड कोविड कंट्रोल रूम अपना अच्छा काम कर रहा है। यहां पर दो हजार कॉल की जा रही है और मरीजों से फीड बैक लिया जा रहा है। कुछ मरीज ऐसे मिल रहे हैं जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। ऐसे मरीजों के लिए शासन विचार कर रहा है कि उनको घर पर ऑक्सीजन सिलिडर मुहैया कराया जाए। इस योजना पर अभी काम चल रहा है। शासनादेश अगले एक दो दिन में आने की उम्मीद है इसके अगले एक सप्ताह में इस योजना को अमलीजामा पहना दिया जाएगा। जनपद में अभी भी दो हजार लोग आइसोलेटिड चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि एल-2 महिला विग 100 शैय्या अस्पताल को सुधारने की कवायद सीएमओ द्वारा की जा रही है। अभी वे जनपद में नए हैं उम्मीद है कि अगले एक सप्ताह में अस्पताल के रिजल्ट अच्छे आएंगे और मरीजों को बेहतर इलाज मिल सकेगा।