जागरण संवाददाता, इटावा : एक ओर सुप्रीम कोर्ट बगैर पहचान पत्र वालों के भी कोरोना वैक्सीन लगाने के निर्देश दे रहा है तो दूसरी ओर सरकार अपनी मनमर्जी के फरमान जारी कर रही है। अब प्रदेश में आज सोमवार से 45 वर्ष से अधिक वालों का तत्काल वैक्सीनेशन नहीं होगा, अब उनको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। मोबाइल पर मैसेज में वैक्सीन सेंटर बताया जाएगा उसी सेंटर पर टीकाकरण कराना होगा। इससे अधेड़ से लेकर असहाय वृद्ध लोगों को परेशानियों का सामना करने पड़ेगा।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद द्वारा जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस आशय के निर्देश दिए गए हैं। इस साल 16 जनवरी से वैक्सीनेशन का काम शुरू हो गया था। अभी तक वैक्सीनेशन कराने के लिए जो लोग केंद्रों पर पहुंचते थे वहां पर उन सभी का तुरंत रजिस्ट्रेशन करके वैक्सीन लगा दी जाती थी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भगवान दास ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की पहले डोज लगवाने के लिए अब कोविन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। दूसरी डोज का टीकाकरण बिना ऑनलाइन पंजीकरण के किया जाएगा। जिला चिकित्सालय व सभी ब्लॉक स्तरीय इकाइयों पर टीकाकरण किया जा रहा है। इसके साथ ही कई हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर भी टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है।

आसान है पंजीकरण प्रक्रिया

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. सत्येंद्र यादव ने बताया कि कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया काफी आसान है। सेल्फ रजिस्ट्रेशन कोविन वेबसाइट पर जाकर स्वयं रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। पंजीकरण पूरा होने के बाद मोबाइल पर मैसेज आएगा। जिसमें टीकाकरण के दिन, स्थान आदि की जानकारी दी जाएगी। आरोग्य सेतु ऐप से भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।