जागरण संवाददाता, इटावा : भाजपा नेता के भाई द्वारा अपनी शस्त्र लाइसेंस की दुकान पर जमा रिवाल्वर किसी अन्य को देना भारी पड़ गया। प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाते हुए दुकान सीज करा दी, शहर कोतवाल ने मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया।

शहर के हर्षनगर में स्थित आ‌र्म्स की दुकान संचालक भाजपा के वरिष्ठ नेता के भाई अरिसाल सिंह सेंगर को शहर कोतवाल जितेंद्र सिंह ने अमानत में खयानत करने तथा शस्त्र की दुकान के नियमों की अनदेखी करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया तो शहर में खलबली सी मच गई। सीओ सिटी राकेश वशिष्ठ ने बताया कि गंभीर अनियमितताएं होने को लेकर शस्त्र की दुकान को भी सीज करा दिया गया है।

थाना प्रभारी जसवंतनगर नवरत्न गौतम ने बताया कि 30 मई को थाना जसवंतनगर क्षेत्र के ग्राम नगला रामताल के सुनील कुमार को पड़ोस के गांव नगला उदय सिंह के दर्शन सिंह तोमर ने हमला करते हुए रिवाल्वर सटाकर धमकाया था। सुनील ने किसी तरह उससे रिवाल्वर छीनकर अपना बचाव किया। इस दौरान दर्शन तोमर भागकर गायब हो गया जिसकी अभी तक तलाश जारी है। रिवाल्वर थाना में दाखिल करके उसकी छानबीन की गई तो वह नगला केशोराय के ठेकेदार गुड्डू शर्मा के नाम पाई गई। गुड्डू से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि पंचायत चुनाव के मद्देनजर सभी लाइसेंसी शस्त्र शहर में स्थित उपरोक्त दुकान पर जमा कराए थे, जिसकी रसीद प्रस्तुत की। इसके आधार पर लगातार छानबीन करके तथ्य जुटाए गए जिसके आधार पर शस्त्र दुकान के संचालक के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है।

Edited By: Jagran