जागरण संवाददाता, इटावा : केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना सरकारी अस्पतालों के लिए भी वरदान साबित हो रही है। जिला अस्पताल को 65 मरीजों के उपचार के क्लेम 4.16 लाख रुपये मिल चुके हैं।

भुगतान का 50 फीसद मिलता अस्पताल के रख-रखाव के लिए

सरकार योजना में उपचार करने वाले अस्पताल द्वारा जारी क्लेम का भुगतान रोगी कल्याण समिति के खाते में करती है। बाद में मिले धन का 25 फीसद संबंधित चिकित्सक व ओटी स्टाफ को दिया जाता है तथा 25 फीसद खर्च हुए दवा व अन्य सामग्री के लिए दिये जाने के साथ 50 फीसद धन अस्पताल के रखरखाव के लिए सुरक्षित रखा जाता है।

योजना के लाभार्थी व अस्पताल

इस योजना में जिले के 72,532 लोग आयुष्मान कार्ड धारक हैं। यहां सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी, लड़ैती भवन नेत्र चिकित्सालय, डॉ.बीआर आंबेडकर जिला अस्पताल पुरुष, जिला अस्पताल महिला, सीएचसी उदी, सीएचसी महेवा, सीएचसी सरसईनावर, सीएचसी भरथना, सीएचसी जसवंतनगर, सीएचसी सैफई, जेके हास्पिटल, सूर्या हास्पिटल, दीप किरन हास्पिटल, सुशीला नर्सिंगहोम, जीएलपी में सुविधा का लाभ दिया जा रहा है।

.....

आयुष्मान योजना का लाभ पहुंचाने के लिए आयुष्मान मित्रों द्वारा सघन अभियान चलाया जा रहा है। इस वर्ष अब तक 754 मरीज पंजीकृत किए गए हैं। इसके सापेक्ष 716 मरीजों को उपचार दिया गया है। जिला अस्पताल को इस मद में अब तक 65 मरीजों के उपचार के क्लेम के रूप में 4.16 लाख रुपये मिल चुके हैं।

डॉ.वीरेंद्र सिंह, नोडल अधिकारी आयुष्मान भारत योजना

Posted By: Jagran