एटा, जासं। प्रतिभाएं प्रत्येक समाज की धरोहर होती हैं। इनका समय-समय पर सम्मान होना आवश्यक ही नहीं अनिवार्य होता है। जिससे अन्य लोगों को भी प्रेरणा मिलती है। यह कहना है ग्रह मंत्रालय के संयुक्त सचिव डा. सौरभ वाष्र्णेय का। वे रविवार को शहर के ठंडी सड़क स्थित ग्रीन गार्डन में आयोजित श्री वाष्र्णेय अक्रूर मेला व प्रतिभा सम्मान समारोह में बोल रहे थे।

जिलाधिकारी सुखलाल भारती द्वारा किए उदघाटन से प्रारंभ श्री वैश्य बारहसैनी सभा के समारोह में बोलते हुए उन्होंने कहा कि हर समाज को चलाने के लिए जिस प्रकार अनुशासन की जरूरत होती है। उसी प्रकार समाज को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिभाओं की जरूरत होती है। ऐसी प्रतिभाओं को जब समाज सम्मानित करता है तो वे और ज्यादा निखरती है। कार्यक्रम में योगेश चंद्र वाष्र्णेय व सुधीर वाष्र्णेय अल्ली को अक्रूर एटा रत्न से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही डा. दीपचंद्र वाष्र्णेय, वीरेंद्र प्रसाद वाष्र्णेय, राकेश वाष्र्णेय, व डा. राहुल वाष्र्णेय को श्री अक्रूर एटा गौरव सम्मान नवाजा गया। इसके साथ ही 175 मेधावी बच्चों को पुरुस्कृत किया गया। लकी ड्रा भी निकाला गया। कार्यक्रम में सदर विधायक विपिन वर्मा डेविड, केसी वाष्र्णेय, कुलभूषण वाष्र्णेय, डा. ओपी गुप्ता, राकेश वाष्र्णेय, डा.दिलीप गुप्ता, मनोज वाष्र्णेय, आलोक वाष्र्णेय, अध्यक्ष चेतन्य स्वरूप वाष्र्णेय, मनीत कुमार वाष्र्णेय, राहुल वाष्र्णेय बौबी, गणेश वाष्र्णेय, दीपक भैय्या वाष्र्णेय, आलोक वाष्र्णेय, मनोज कुमार वाष्र्णेय आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप