जागरण संवाददाता, एटा: निकाय चुनाव के लिए वार्ड का आरक्षण जारी हो गया। इसके साथ ही ऐसे दावेदारों में खलबली मच गई जिनकी मर्जी के मुताबिक आरक्षण नहीं हुआ है। वहीं वे दावेदार खूब खुश हैं जिनके मनमाफिक आरक्षण हुआ है। आरक्षण के कारण जो दावेदार चुनाव नहीं लड़ पाएंगे वे अब विकल्प की तलाश में जुट गए हैं। वार्ड का आरक्षण जारी होने के बाद दावेदारों ने चुनावी तैयारियां तेज कर दी हैं।

आरक्षण घोषित होने को लेकर दावेदारों को बेसब्री से इंतजार था। हालांकि चुनाव की तैयारियां उन्होंने शुरू कर दी थीं, लेकिन यह चिंता भी सता रही थी कि अगर मनमाफिक आरक्षण नहीं हुआ तो भी चुनाव नहीं कर पाएंगे। लोगों के बीच आरक्षण को लेकर अफवाहें उड़ रही थीं, जिन पर अब बिराम लग गया है।

जनपद के 10 निकायों में कुल 168 वार्ड हैं। शहरी निकायों की संख्या 9 थी अब 10 हो गई है। मिरहची नगर पंचायत का इसी साल गठन हुआ है और इसमें 15 वार्ड बनाए गए हैं। इस नगर पंचायत में निकाय का पहली बार चुनाव हो रहा है इसलिए खूब उत्साह यहां देखने को मिल रहा है तथा दावेदार भी बढ़ चढ़कर तैयारी कर रहे हैं। इसके अलावा मारहरा नगर पालिका परिषद का विस्तार किया गया है, इसमें भी कुछ वार्ड नए हैं।

जनपद में एटा, मारहरा, जलेसर और अलीगंज नगर पालिका परिषद हैं, अवागढ़, निधौली कलां, मिरहची, सकीट, जैथरा, राजा का रामपुर नगर पंचायत हैं जहां निकाय का चुनाव होना है। कई वार्ड में आरक्षण पिछली बार जैसा ही रहा है।

एटा नगर पालिका परिषद सीट पर आरक्षण का गणित

एटा नगर पालिका परिषद सीट पर 25 वार्ड हैं। इनमें से 11 वार्ड अनारक्षित हैं, जबकि 6 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए हैं। अनुसूचित जाति, महिला अनुसूचित जाति के लिए सिर्फ एक-एक वार्ड ही आरक्षित है। पिछड़ा वर्ग को 4 और पिछड़ा वर्ग महिला को 2 वार्ड दिए गए हैं। इस सीट पर चुनावी तैयारियां पहले से ही चल रही हैं क्योंकि यह जिला मुख्यालय की सीट है, इसलिए यह निकाय सभी राजनीतिक दलों के लिए अहम है। यहां के हर वार्ड में दावेदारों की कतार है तथा राजनीतिक दलों से टिकट मांगने वाले दावेदार भी बड़ी संख्या में हैं, इसलिए राजनीतिक दलों के समक्ष भी टिकट देने की चुनौती है।

जलेसर में 10 सीटें सामान्य

जलेसर नगर पालिका परिषद सीट के 10 वार्ड अनारक्षित हैं, जबकि महिला के लिए 5 सीटें आरक्षित की गई हैं। अनुसूचित महिला को 2, पिछड़ा वर्ग 4, अनुसूचित जाति 2, पिछड़ा वर्ग महिला 2 सीटें आरक्षित हैं। दावेदारों में चुनाव की तैयारियां तेज हो रही हैं और जिन दावेदारों के मनमाफिक आरक्षण नहीं हुआ है, अभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। तमाम दावेदारों को पहले से ही आशंका थी कि हो सकता है उनके मनमाफिक आरक्षण न हो इसलिए उन्होंने भी पहले से ही तैयारी कर रखी थी।

अलीगंज में महिलाओं को 9 सीटें

अलीगंज नगर पालिका परिषद के आरक्षण सूची के मुताबिक 9 सीटें महिलाओं को दी गई हैं। यहां 6 सीट में महिला, 2 पिछड़ा वर्ग महिला, 1 अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित हैं। अनुसूचित जाति के लिए 2 और पिछड़ा वर्ग के लिए 4 सीट आरक्षित की गई हैं। इस नगर पालिका परिषद में कुल 25 वार्ड हैं।

मारहरा में विस्तार के बाद कलेवर में पालिका

मारहरा नगर पालिका परिषद का इसी साल विस्तार किया गया है। इसके बाद यह पालिका नए कलेवर में दिखाई दे रही है। इस सीट पर अनारक्षित वार्ड की संख्या जिले की अन्य नगर पालिका परिषदों से कम है। यहां 8 सीट अनारक्षित की गई हैं। महिला के लिए 4, अनुसूचित जाति के लिए 4, पिछड़ा वर्ग के लिए 4, पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 2, अनुसूचित जाति महिला के लिए 3 सीटें आरक्षित हैं। खास बात यह है कि विस्तार के दौरान कई गांव इस नगर पालिका परिषद में शामिल किए गए थे जिसकी वजह से इसका आकार बड़ा हो गया है।

नगर पंचायतों के आरक्षण का गणित

निधौली कलां में 10 में से आधे वार्ड अनारक्षित

निधौली कलां नगर पंचायत के 10 वार्ड में चुनाव होना है। इसमें से 5 वार्ड अनारक्षित किए गए हैं, जबकि पिछड़ा वर्ग को 1, महिला 3, पिछड़ा वर्ग महिला को 1 वार्ड दिया गया है। आरक्षण को देखकर लगता है कि यहां का चुनाव काफी रोचक होगा। आधे वार्ड में राजनीतिक दलों को भी टिकट देने में अधिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मिरहची में भी अनारक्षित वालों की संख्या अधिक

मिरहची नगर पंचायत का इस साल गठन हुआ है और यहां पर 15 वार्ड बनाए गए हैं। इनमें से 6 अनारक्षित हैं। अनुसूचित जाति महिला के लिए 1, अनुसूचित जाति के लिए 2, महिला के लिए 2, पिछड़ा वर्ग के लिए 2, पिछड़ा वर्ग महिला को 2 दिए गए हैं। जनपद की सभी नगर पंचायतों में से मिरहची नगर पंचायत सबसे बड़ी है। नगर पंचायत में मिरहची के आसपास के 13 गांव भी शामिल किए गए हैं।

अवागढ़ में आधे से ज्यादा वार्ड अनारक्षित

अवागढ़ नगर पंचायत में 11 वार्ड आते हैं, जिनमें से आधे से अधिक अनारक्षित किए गए हैं। यहां अनारक्षित वार्ड की संख्या 6 है, जबकि महिला के लिए 2, अनुसूचित जाति के लिए 1, पिछड़ा वर्ग के लिए 1, पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 1 वार्ड आरक्षित किया गया है।

राजा का रामपुर में 11 वार्ड

नगर पंचायत राजा का रामपुर 11 वार्ड आते हैं, जिसमें से 4 सीटों पर सामान्य वर्ग के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे, जबकि महिला के लिए 2, पिछड़ा वर्ग के लिए 1, अनुसूचित महिला के लिए 1, अनुसूचित जाति के लिए 1 और पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 1 वार्ड आरक्षित किया गया है।

जैैथरा में 11 सीटों पर होगा चुनाव

जैथरा नगर पंचायत के 11 सीटों पर चुनाव होगा, जिसमें 2 सीटें महिलाओं के लिए, 1 अनुसूचित जाति महिला के लिए, 5 अनारक्षित पिछड़ा वर्ग के लिए, 1 पिछड़ा वर्ग महिला के लिए, 1 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित की गई है।

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट